ताज़ा खबर
 

‘वाह रे मोदी तेरा खेल, न्याय मांगो तो जेल’, मोदी के विकास मॉडल पर दिग्विजय ने शेयर की कविता, ट्रोल

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा, "जिसकी लाठी उसकी भैंस, ये तो कहती है कांग्रेस। तभी तो अभी तक पक्ष या विपक्ष, गांधी ही होगा अध्यक्ष।"

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: June 20, 2021 3:15 PM
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कविता शेयर कर साधा मोदी पर निशाना। (एक्सप्रेस फोटो- निर्मल हरिंद्रन)

कोरोनावायरस महामारी, महंगाई, पेट्रोल-डीजल और गिरती अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर घिरी मोदी सरकार पर विपक्ष के हमले जारी हैं। इस बीच राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से की गई जमीन खरीद और कोविड-19 वैक्सीन की कमी ने भी विपक्ष को केंद्र पर हमले का एक और मौका दे दिया है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इसी मौके का फायदा उठाते हुए केंद्र की नाकामियों को लेकर एक कविता पोस्ट की है। वैसे तो इस कविता में उन्होंने किसी और रचयिता का नाम दिया है, लेकिन सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें जबरदस्त तरीके से ट्रोल कर दिया।

ट्विटर पर कांग्रेस नेता का क्या रहा ट्वीट?: दिग्विजय सिंह ने ट्वीट में जो कविता पोस्ट की, उसका शीर्षक दिया- ‘मोदी जी का डेवलपमेंट मॉडल’। दिग्विजय ने लिखा, “घर-घर नाली घर-घर गैस, जिसकी लाठी उसकी भैंस। बनाओ पकौड़ा, बेचो चाय, स्कूल अस्पताल भाड़ में जाए। आम आदमी से मन की बात, उद्योगपति से धन की बात। वाह रे मोदी तेरा खेल, न्याय मांगो तो होगी जेल।” कांग्रेस नेता ने इस कविता के नीचे इसके रचयिता- सुमित सेठ का नाम भी दिया है।

सोशल मीडिया यूजर्स ने कर दिया ट्रोल: दिग्विजय के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया ने जबरदस्त कमेंट किए। यूजर @op_shekhawat ने लिखा, “जाने कैसी राहें है, फैला रहे अफवाहें हैं। देश ने अब ये ठान लिया, तुम लोगों को पहचान लिया। आमजन को लाचार किया कांग्रेस ने भ्रष्टाचार किया।”

एक और यूजर आनंद झा ने लिखा, “जिसकी लाठी उसकी भैंस, ये तो कहती है कांग्रेस। तभी तो अभी तक पक्ष या विपक्ष, गांधी ही होगा अध्यक्ष। वाह रे कांग्रेस तेरा खेल। 70 सालों से एक ही नारा, गरीबी हटाओ-गरीबी हटाओ, जनता से कुछ नहीं है मेल। 370, राम मंदिर, GST, आतंकवाद सब पर तो हो गए थे फेल, बस घोटालों का रह गया था खेल।”

हालांकि, कुछ लोग दिग्विजय सिंह के बचाव में भी उतर आए। रौशन पांडेय नाम के यूजर ने कहा, “वाह सर जी वाह, आपके लेखनी ने तो मेरा दिल बाग बाग कर दिया। आपनें तो 100% सही कहा हैं। सच पूछिऐ तो, इन शब्दों को जन जन तक पहुंचाने कि जरूरत हैं, नहीं तो ये देश पूंजी पतियों के गुलाम हो जाएगा।” एक और यूजर @shailendr51 ने कहा, “महराज जी सादर चरण स्पर्श। सुमित जी ने कविता के माध्यम से जुमलाधिश्वर की 100% सच्चाई लिख दी है।”

Next Stories
1 दिल्ली में 2.1 तीव्रता के भूकंप के झटके, चंद सेकेंड्स तक कांपी धरती
2 कांग्रेस में लोकतंत्र है कहां? आखिरी बार तो नरसिम्हा के वक्त हुए थे चुनाव- बोले पत्रकार, देखें- क्या आया शत्रुघ्न का जवाब
3 हम हों या कांग्रेस, पेट्रोल-डीज़ल की महंगाई विपक्ष का हथियार रहा है और यह ठीक भी है- जदयू प्रवक्ता बोले
ये पढ़ा क्या ?
X