ताज़ा खबर
 

जब पेट्रोल के दाम बढ़ने के खिलाफ पगड़ी बांध, साइकिल पर निकले थे रामदेव, दिग्विजय बोले- शुरू से ही भाजपा का एजेंट

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का जिक्र कर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बाबा रामदेव पर साधा निशाना, कहा- "जिस दिन भाजपा, मोदी, शाह गए यह फिर पलटी मारेगा।"

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: June 9, 2021 9:57 AM
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट कर बाबा रामदेव पर निशाना साधा है। (express file)

भारत में कोरोनावायरस महामारी के बीच मंहगाई में लगातार बढ़ोतरी जारी है। इसकी एक मुख्य वजह पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही भारी वृद्धि है, जिसका असर जरूरत की दूसरी चीजों पर भी पड़ता दिख रहा है। इस दौरान अब उन ज्यादातर नेताओं और लोकप्रिय चेहरों पर चुप्पी देखी जा सकती है, जो कुछ साल पहले ही पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने पर केंद्र की यूपीए सरकार पर जबरदस्त निशाने साध रहे थे। इनमें भाजपा नेताओं के साथ एक चर्चित नाम पतंजलि आयुर्वेद के संस्थापक बाबा रामदेव का भी है, जो कि 2014 से पहले तक तो पेट्रोल-डीजल के दामों में बढोतरी को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन अब इस बारे में बोलने से भी बच रहे हैं। इसे लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रामदेव पर तंज कसा है और उन्हें ढोंगी तक करार दे दिया।

क्यों आई दिग्विजय सिंह की टिप्पणी?: दरअसल, सोशल मीडिया पर हाल ही में एक वीडियो वायरल हो रहा है। 2011 के बताए जा रहे इस वीडियो में बाबा रामदेव को पेट्रोल-डीजल के दामों में जबरदस्त वृद्धि के लिए प्रदर्शन करते देखा जा सकता है। इस दौरान उन्होंने पंजाब के जालंधर में पगड़ी पहनकर साइकिल चलाई थी और यूपीए सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला था।

इस वीडियो को ट्विटर पर अभिनव पांडेय नाम के एक यूजर ने शेयर किया है। उन्होंने लिखा, “5 नवंबर 2011 की तारीख थी, पेट्रोल का दाम 68 रुपए। तब रामदेव जालंधर में साइकिल पर विरोध का अनुलोम-विलोम कर रहे थे, आज 100 पार है तो सन्नाटे की सांस खींचें हुए हैं। ऐसी भी क्या मजबूरी है ?”

क्या बोले कांग्रेस नेता?: इसी वीडियो पर टिप्पणी करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, “ढोंगी रामदेव को पहचानने में लोगों को बहुत देर लगी। यह शुरू से ही भाजपा का एजेंट बना हुआ था।” उन्होंने आगे लिखा, “यह भी जानना आवश्यक है कि जिस कांग्रेस को यह कोस रहा है उसी ने इसे दो फ़ूड पार्क के लिए ₹150-150 करोड़ का अनुदान दिया था। एक हरिद्वार में एक रांची में। उत्तराखंड में ज़मीन भी कांग्रेस CM नारायण दत्त तिवारी जी ने ही दी थी। जिस दिन भाजपा, मोदी, शाह गए यह फिर पलटी मारेगा।”

पहले भी रामदेव पर निशाना साध चुके हैं दिग्विजय: गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है, जब दिग्विजय सिंह ने रामदेव को लेकर इस तरह की टिप्पणी की हो। इससे पहले भी रामदेव बनाम एलोपैथी के विवाद में दिग्विजय सिंह ने रामदेव पर जबरदस्त निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि रामदेव, बालकृष्ण की जोड़ी ठग थी, ठग है और ठग रहेगी।

इसके अलावा एक और मौके पर दिग्विजय ने रामदेव के खिलाफ हो रहे डॉक्टरों के प्रदर्शन का जिक्र करते हुए कहा था कि यह विवाद आयुर्वेद बनाम ऐलोपैथी का नहीं। यह मामला तो इस लिए उठ खड़ा हुआ कि रामदेव ने डॉक्टरों पर व हेल्थ वर्करों पर भद्दी टिप्पणी की थी। ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ जिन्होंने दिन-रात अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की जान बचाई।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X