ताज़ा खबर
 

इंदिरा का नाम लिए बगैर बोले कांग्रेसी दिग्विजय- वो लोगों की PM थीं, पर मोदी EVM के प्रधानमंत्री हैं; लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स

दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट कर बिना नाम लिए पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज़ कसा। कांग्रेस नेता ने ट्वीट करते हुए मोदी को EVM का प्रधानमंत्री बताया है। जिसके बाद यूजर्स ने उन्हें ट्रोल भी किया है।

दिग्विजय सिंह ने इंदिरा गांधी का नाम लिए बिना मोदी पर निशाना साधा। (express file photo)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सोमवार को एक ट्वीट कर बिना नाम लिए पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की तारीफ करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज़ कसा। कांग्रेस नेता ने ट्वीट करते हुए मोदी को EVM का प्रधानमंत्री बताया है। जिसके बाद यूजर्स ने उन्हें ट्रोल भी किया है।

संजय घोष नाम के एक यूजर ने इन्दिरा गांधी की एक पुरानी तस्वीर शेयर की जिसमें वे स्टूल पर बैठकर पत्रकारों से बात कर रही हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए दिग्विजय सिंह ने लिखा “ये लोगों की प्रधानमंत्री थी, मोदी EVM के प्रधानमंत्री हैं; भक्तों कुछ समझ में आया?” दिग्विजय के इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा “कांग्रेस पार्टी को गर्त में ले जाने में आप का बहुत सहयोग है आपकी बेहूंदी बयान बाजी सबसे बड़ा कारण है कांग्रेस को इस भारत देश से खत्म करने में।”

मनोज नाम के एक यूजर ने लिखा “उमर हो गई है, अभी तक समझ वही की वही है। फिर से evm का रोना। इतना तो तब भी नहीं रोए थे जब बीबी मर गई थी!” एक ने लिखा “आपकी अम्मा को कौन नहीं जानता, लेकिन संजय गांधी के आगे वह भी लाचार थी, और उसकी कीमत संजय की मौत थी,अन्यथा जांच अवश्य होती।”

कुछ यूजर्स ने दिग्विजय के ट्वीट से सहमति जताई। ऋत्विक नाम के यूजर ने लिखा “बिना छल कपट के चड्डी गैंग कोई चुनाव जीत नहीं सकती।” रवीद्र गौतम ने लिखा “यदि दिमाग़ में गोबर और मूत्र हो तो कैसे कुछ समझ आयेगा?”

बता दें रविवार को दिग्विजय सिंह ने दावा किया था कि कोविड-19 का इलाज करा रहे या ठीक हुए कुछ व्यक्तियों में हो रहे दुर्लभ म्यूकरमाइकोसिस यानी ‘ब्लैक फंगस’ संक्रमण के उपचार के लिए जरूरी ‘एम्फोटेरिसिन’ इंजेक्शन अचानक बाजार से गायब हो गये हैं।

कोई 74 तो कोई 64 साल में बना था दूल्हा, इन 6 चर्चित नेताओं ने काफी बड़ी उम्र में रचाई शादी

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखे पत्र में प्रदेश से राज्यसभा सांसद दिग्विजय ने कहा कि समाचार माध्यमों से ज्ञात हुआ है कि प्रदेश में कोविड के बाद ‘ब्लैक फंगस’ बीमारी तेजी से फैल रही है और अकेले भोपाल शहर में ही 70 से ज्यादा ‘ब्लैक फंगस’ के ज्ञात मरीज हैं जिनमें से 23 शासकीय हमीदिया अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अनेक शहरों से ‘ब्लैक फंगस’ के मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की खबरें आ रही हैं।

दिग्विजय ने दावा किया, ‘‘इस बीमारी के उपचार के लिए आवश्यक एंटीफंगल इंजेक्शन एम्फोटेरिसिन अचानक बाजार से गायब हो गया है तथा मरीज के परिजन इसे लेने के लिए दवा की दुकानों पर भटक रहे हैं।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘जिस तरह से मध्य प्रदेश में कोविड के उपचार हेतु उपयोगी रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी हो रही है और नकली इंजेक्शन के धंधे में कई लोग शामिल पाये गये हैं, उससे आशंका उत्पन्न होती है कि कहीं एम्फोटेरिसिन इंजेक्शन की भी कालाबाजारी और नकली इंजेक्शन का कारोबार प्रारंभ न हो गया हो।’’

दिग्विजय ने कहा, ‘‘मेरा आपसे (मुख्यमंत्री चौहान) अनुरोध है कि ‘ब्लैक फंगस’ के उपचार हेतु जरूरी इंजेक्शन एम्फोटेरिसिन की मरीजों के लिए अस्पतालों के माध्यम से आसानी से उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं इसकी कालाबाजारी और नकली दवा के कारोबार को रोकने के लिए तत्काल सख्त कदम उठाने का कष्ट करें।’’

Next Stories
1 ताउते से देश के कई राज्यों में तबाही, राजधानी दिल्ली में भी हुई जमकर बारिश
2 जम्मू-कश्मीर के दो कारागार में 92 कैदी कोरोना वायरस से संक्रमित
3 यूपी के आला अफसर ने माना, नदियों में उतराते शव कोविड से मरने वालों के
ये पढ़ा क्या?
X