कांग्रेस नेता ने स्मृति ईरानी और हेमा मालिनी के लिए किया अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल, BJP ने प्रियंका गांधी को याद दिलाया ‘मैं लड़की हूं’ का नारा

अरुण यादव ने स्मृति ईरानी को डोकरी यानी वृद्ध महिला बताया और कहा कि भाजपाइयों के लिए महंगाई अब हेमा मालिनी बन गई है।

Arun Yadav
अरुण यादव बुधवार को खंडवा लोकसभा क्षेत्र के पंधाना में थे और कांग्रेस के प्रत्याशी ठाकुर राजनारायण सिंह की जनसभा में भाषण दे रहे थे। (फोटो- वीडियो/स्क्रीनशॉट)

मध्‍य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने एक चुनावी सभा में विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी और सांसद हेमा मालिनी के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है।

दरअसल खंडवा लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होना है, इसलिए अरुण यादव बुधवार को खंडवा लोकसभा क्षेत्र के पंधाना में थे और कांग्रेस के प्रत्याशी ठाकुर राजनारायण सिंह की जनसभा में भाषण दे रहे थे।

इसी दौरान उन्होंने स्मृति ईरानी को डोकरी यानी वृद्ध महिला बताया और कहा कि भाजपाइयों के लिए महंगाई अब हेमा मालिनी बन गई है।

उन्होंने कहा कि जब देश में हमारी सरकार थी, तो भाजपा के लोग पेटी और तबला लेकर गाना गाते थे कि महंगाई डायन खाए जात है और अब साल 2021 में खाने का तेल 180 रुपये, पेट्रोल 116 और डीजल 109 रुपए है। लेकिन इस सरकार मे महंगाई अफसर बन गई है और हेमा मालिनी बन गई है। अब उन्हें महंगाई नजर नहीं आती।

अरुण यादव के इस बयान पर बीजेपी ने आपत्ति जताई है और ट्वीट किया है। बीजेपी ने कहा, ‘प्रियंका गांधी कहती फिर रही हैं कि मैं लड़की हूं, लड़ूंगी, मध्य प्रदेश के कांग्रेसी नेता के दुष्कर्मी बेटे से तो आप लड़ नहीं पाईं, क्या महिलाओं पर भद्दी टिप्पणी करने वाले कांग्रेसी नेता अरूण यादव से लड़ेंगी? या फिर वही दोगलापन? देश जानना चाहता है!’

बता दें कि मध्य प्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट पर 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस के टिकट के लिए मुख्य दावेदार पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए इस चुनाव को लड़ने से इनकार कर दिया था। यादव ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी। वह मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

उन्होंने ट्वीट किया था कि रविवार को मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी, कांग्रेस महामंत्री एवं पार्टी के मध्य प्रदेश के प्रभारी मुकुल वासनिक से दिल्ली में व्यक्तिगत तौर पर मिलकर अपने पारिवारिक कारणों से खंडवा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से अपने प्रत्याशी न बनने को लेकर लिखित जानकारी दे दी है। यादव ने कहा था कि अब पार्टी जिसे भी उम्मीदवार बनाएगी, मैं उसके समर्थन में पूर्ण सहयोग करूंगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
पश्चिम बंगाल में सियासी बदलाव के संकेतRajasthan BJP Government
अपडेट