वाराणसी में PM मोदी की रैली के लिए काटी गई कच्ची फसल तो कांग्रेस नेता ने किया वार, DM बोले- दिया जा चुका है मुआवजा

वाराणसी में प्रधानमंत्री की रैली से पहले कच्ची फसल काटे जाने का मामला तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है, एक तरफ प्रशासन का दावा है कि मुआवजा तय होने बाद ही खेतों में हार्वेस्टर चलाया जा रहा है तो वहीं कांग्रेस नेता का दावा है कि किसानों को किसी पूर्व सूचना के फसल काटे जाने का काम हो रहा है।

Varanasi Farmer
वाराणसी में पीएम मोदी की रैली से पहले कच्ची फसल काटे जाने का काम जारी। सोर्स- Video Grab Twitter @kashikirai

वाराणसी में प्रधानमंत्री की रैली से पहले कच्ची फसल काटे जाने का मामला तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है, एक तरफ प्रशासन का दावा है कि मुआवजा तय होने बाद ही खेतों में हार्वेस्टर चलाया जा रहा है तो वहीं कांग्रेस नेता का दावा है कि किसानों को किसी पूर्व सूचना के फसल काटे जाने का काम हो रहा है। कांग्रेस नेता अजय रात ने खेतों में चल रहे हार्वेस्टर का एक वीडियो साझा करते हुए लिखा कि कहीं किसान कट रहा है तो कहीं फसल, उन्होंने कहा कि काशी की पवित्र धरती पर खड़ी फसल को नरेंद्र मोदी सिर्फ इसलिए कटवा रहे हैं कि उन्हें मंच से खड़े होकर देश और प्रदेश को झूठे जुमले की सौगात देनी है। राय ने सुझाव देते हुए कहा कि बेहतर होगा नरेंद्र मोदी, अपनी चुनावी सभा का स्थल बदल कर एक और अन्याय करने से बचें।

इस टिप्पणी के साथ उन्होंने जो वीडियो साझा किया है, जहां किसान, कच्ची फसल काटे जाने पर नाराजगी जताते हुए नजर आ रहे हैं। वीडियो में जिस शख्स की आवाज आ रही है, उसका दावा है कि फसल काटे जाने के लिए न तो किसानों की सहमति ली गई है और न ही उन्हें मुआवजा दिया गया है। इसी दौरान वहां कुछ लोग खड़े भी नजर आ रहे हैं, जिनसे पूछा जाता है कि क्या जबरदस्ती फसल कटवाई जा रही है, इसके जवाब में वहां खड़ा एक शख्स कहता है, यह तो जबरदस्ती ही है।

कांग्रेस नेता की इस ट्वीट पर वाराणसी के जिलाधिकारी द्वारा जवाब दिया गया है। उन्होंने लिखा कि रिंग रोड के बड़े कार्य का शुभारंभ उसी स्थल पर करने के लिए फसल का पर्याप्त मुआवजा दे कर सहमति से ही भूमि 10-12 दिन के लिए ली जा रही है। उन्होंने कहा कि रिंग रोड का फायदा लाखों लोगों को प्रत्यक्ष रूप से होगा।

बताते चलें रिंग रोड ओवरब्रिज (रखौना) के किनारे मेंहदीगंज ग्राम का चयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा के लिए किया गया है। जनसभा स्थल से पीएम मोदी द्वारा रिंगरोड समेत कई योजनाओं का लोकार्पण करेंगे। ऐसे में जनसभा स्थल को तैयार करने के लिए खेतों में लगी किसानों के धान की फसल को हार्वेस्टर के जरिए काटकर जमीन को समतल किया जा रहा है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सेवापुरी विधानसभा में ही पीएम मोदी ने दूसरा गांव ‘नागेपुर’ गोद लिया था। यह गांव उसी ग्राम के बगल में है, जहां पीएम मोदी की जनसभा का कार्यक्रम होना है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट