ताज़ा खबर
 

‘निर्बला’ वाले बयान पर अधीर रंजन चौधरी ने मांगी माफी, कहा- निर्मला जी मेरी बहन की तरह, I am sorry

Lok Sabha Adhir Ranjan Chowdhury, Nirmala Sitharaman: अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि निर्मला जी मेरी बहन की तरह हैं और मैं उनके भाई की तरह हूं। अगर मेरे शब्दों से उनको दुख पहुंचा है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं।

Author दिल्ली | Updated: December 4, 2019 7:38 PM
कांग्रेस सांसद व नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी। (फोटो सोर्स- लोकसभा टीवी)

Adhir Ranjan Chowdhury, Nirmala Sitharaman: कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को ‘निर्बला’ रूप में संबोधित करने पर माफी मांग ली है। उन्होंने कहा कि निर्मला जी मेरी बहन की तरह हैं और मैं उनके भाई की तरह हूं। अगर मेरे शब्दों से उन्हें दुख पहुंचा है तो मुझे इस बात का खेद है। गौरतलब है कि कॉरपोरेट टैक्स पर चर्चा के दौरान चौधरी ने निर्मला सीतारमण को ‘निर्बला’ सीतारमण कह दिया था।

कांग्रेस नेता ने कहा सॉरी: दरअसल, सोमवार को लोकसभा में बहस के पर दिया, जिसके बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने जवाबदेते हुए कहा कि कभी कभी आपके हालात देखकर मुझे कहने को दिल करता है कि आपको निर्मला सीतारमण के बजाय ‘निर्बला सीतारमण’ कहना ठीक होगा या नहीं। इसी मुद्दे पर बुधवार (10 दिसंबर) को चौधरी ने माफी मांग ली। उन्होंने कहा, “सदन में चर्चा के दौरान मैंने हमारी वित्त मंत्री को निर्बला संबोधित किया। निर्मला जी मेरी बहन की तरह हैं और मैं उनके भाई की तरह हूं। अगर मेरे शब्दों से उनको चोट पहुंची है तो मैं माफी मांगता हूं।’

इससे पहले पीएम को कहा था घुसपैठिया: बता दें कि इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने ही पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को घुसपैठिया बता दिया था। जिसको लेकर लोकसभा में खूब हंगामा हुआ था। बीजेपी अधीर रंजन चौधरी से माफी की मांग कर रही है। चौधरी ने कहा था वे दोनों गुजरात से आकर दिल्ली में बस गए हैं।

कश्मीर जाएं नेता: लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार (10 दिसंबर) को मांग की कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के नेतृत्व में एक संसदीय शिष्टमंडल जम्मू-कश्मीर भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि स्पीकर के नेतृत्व में सांसदों का एक शिष्टमंडल कश्मीर जाकर वहां के हालात का जायजा ले।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केंद्रीय कैबिनेट ने सिटीजन अमेंडमेंट बिल को दी मंजूरी, जानें- क्या हैं ये बिल, क्यों हो रहा इसका विरोध? असम में इतना उबाल क्यों?
2 MP: सड़क हादसे में हुई थी जवान बेटे की मौत, पिता ने तेरहवीं पर बांटे 51 हेलमेट; कही दिल छू लेने वाली बात
3 VIDEO: कपड़े की डोली में कंधों पर 6 किलोमीटर तक गर्भवती को ले गए परिजन, रास्ते में ही हो गई डिलीवरी
जस्‍ट नाउ
X