कर्नाटक के गृह मंत्री ने लगाया ऑनलाइन वोटिंग हैक करने का आरोप तो बोले डीके शिवकुमार- ये पागल आदमी है, मेंटल हॉस्पिटल भेजना चाहिए

भाजपा के आरोपों पर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि बीजेपी अपने आंतरिक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए बार बार कांग्रेस पर कीचड़ उछाल रही है। इससे वो अपनी अंदरूनी कलह से सभी का ध्यान भटकाना चाहती है।

araga jnanedra , DK Shivkumar
कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र और कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार(फोटो सोर्स: ANI/PTI)।

कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख डीके शिवकुमार ने गुरुवार को राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र पर पलटवार करते हुए उन्हें पागल आदमी कहा। उन्होंने कहा कि ज्ञानेंद्र एक “पागल आदमी” है और उन्हें मेंटल हॉस्पिटल भेजा जाना चाहिए। बता दें कि कर्नाटक के गृह मंत्री ने कांग्रेस नेताओं पर बिटकॉइन घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया था।

अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा, “कर्नाटक में श्रीकी( कथित बिटकॉइन घोटाले में आरोपी) ने हैकिंग के बारे में बताया था। इस मुद्दे को उठाए जाने के बाद, कई युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुझे जानकारी दी युवा कांग्रेस अध्यक्ष के लिए ऑनलाइन वोटिंग भी हैक कर ली गई थी और जांच की मांग की थी।

इसके बाद डीके शिवकुमार ने ज्ञानेंद्र पर पलटवार करते हुए कहा, “गृह मंत्री एक पागल आदमी है और जांच के लिए उन्हें मेंटल हॉस्पिटल भेजा जाना चाहिए। उन्हें पहले पीएम को लिखे गए पत्र (बिटकॉइन घोटाले पर) को लेकर स्वत: संज्ञान लेने दें, जिसमें कई भाजपा नेताओं के नाम हैं।”

बता दें कि कथित घोटाले में राजनीतिक रूप से प्रभावशाली लोगों के शामिल होने के बारे में पिछले कुछ समय से अटकलें लगाई जा रही थीं। इसको लेकर सीसीबी अधिकारियों ने शहर के एक हैकर श्रीकी से नौ करोड़ रुपये के बिटकॉइन की वसूली का दावा किया था। बता दें कि श्रीकी ही वो शख्स है जिसकी नवम्बर 2020 में गिरफ्तारी के बाद से बिटकॉइन के मामले का खुलासा हुआ। उसपर सरकारी पोर्टलों को हैक करने का भी आरोप है।

इस मामले में कांग्रेस नेताओं ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं, उनके परिवार के सदस्यों और वरिष्ठ अधिकारियों के शामिल होने का आरोप लगाया है और सरकार पर इसे छिपाने का आरोप लगाया है। वहीं बीजेपी ने भी अपने पलटवार में कांग्रेस के नेताओं की संलिप्तता का आरोप लगाया है।

बता दें कि श्रीकि ने हैकिंग में एक रुकी के रूप में शुरुआत की थी। शातिर दिमाग और नई नई तरकीबों को सीखने की चाह रखने वाला श्रीकि जल्द ही इस क्षेत्र में माहिर हो गया। अब वो हर तरह की वेबसाइट्स को भी हैक करने में सक्षम हो गया है। बता दें कि जब श्रीकि 9वीं क्लास में था उस समय अपनी कुशलता के चलते एक हैकर्स के ग्रुप में एडमिन की भूमिका में आ चुका था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अंबाला में दी गई शहीद गुरसेवक को विदाई, निरंजन कुमार का पार्थिव शरीर बेंगलुरु पहुंचा