ताज़ा खबर
 

“PM को अर्थव्यवस्था के बारे में कुछ नहीं पता”, कांग्रेस ने सुब्रमण्यम स्वामी के बयान का हवाला दे यूं कसा तंज

पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर की फैज की शायरी पढ़ने पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'मुझे लगता है कि दक्षिण भारत के हमारे साथियों को भी शेरो, शायरी पढ़ने का पूरा अधिकार है।'

Author नई दिल्ली | Updated: January 16, 2020 11:42 AM
मणिशंकर अय्यर और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन में पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर की एक टिप्पणी को लेकर बुधवार को कहा कि एक ‘दक्षिण भारतीय ब्राह्मण’ के फैज की शायरी पढ़ने पर किसी को ऐतराज नहीं होना चाहिए। अय्यर का पक्ष लेते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा दक्षिण भारतीयों को भी शेर व शायरी पढ़ने का पूरा हक है। इसको लेकर उन्होंने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा है। बता दें कि शाहीन बाग के विरोध प्रदर्शन में सभी वर्ग के लोग शामिल हो रहे हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता ने क्या कहाः पूर्व केंद्रीय मंत्री अय्यर की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैंने मणिशंकर जी की शायरी जो उन्होंने किसी जलसे में पढ़ी, वो देखी। मैं केवल आप सबसे यह अनुरोध करुंगा कि जब सुब्रमण्यम स्वामी जी यह कहते है कि मोदी जी को अर्थव्यवस्था का क,ख,ग नहीं आता तो कोई सवाल नहीं पूछता। अब अगर कोई दक्षिण भारतीय ब्राह्मण थोड़ा फैज की शायरी पढ़े तो भला क्या एतराज होना चाहिए?’

Hindi News Live Hindi Samachar 16 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

व्यक्तिगत रूप से सब कुछ करने के लिए हूं तैयार मैं- अय्यरः कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘मुझे लगता है कि दक्षिण भारत के हमारे साथियों को भी शेरो, शायरी पढ़ने का पूरा अधिकार है।’ गौरतलब है कि दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी विरोधी प्रदर्शन में शामिल हुए अय्यर ने कहा, ‘मैं व्यक्तिगत रूप से सब कुछ करने के लिए तैयार हूं। जो भी कुर्बानियां देनी हों, उसमें भी तैयार हूं। अब देखें किसका हाथ मजबूत है, हमारा या उस कातिल का?’

15 दिसंबर से शाहीन बाग में चल रहा है घरनाः बता दें कि शाहीन बाग में 15 दिसंबर से सीएए-एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है। लोग विरोध-प्रदर्शन को दर्ज करने के लिए तरह तरह के रास्ते आपना रहे हैं। इलाके के कई लोग कहीं धरने पर बैठकर अपना विरोध जता रहे हैं तो कई लोग पेंटिग कर प्रदर्शन का हिस्सा बन रहे हैं।

Next Stories
1 7000 रुपए कमाने वाले को आयकर ने भेजा नोटिस, पूछा- बताओ 134 करोड़ का लेन-देन कैसे किया? शख्स के उड़ गए तोते
2 1984 दंगाः बोला पैनल, ‘ऐक्शन लेने में Congress सरकार ने नहीं दिखाई कोई रुचि’; 498 केसों पर सिर्फ 1 FIR, 1 अफसर
3 Doda Encounter: नौकरी छोड़ MBA पास बना हिजबुल कमांडर, BJP-RSS नेताओं का था हत्यारा!
ये पढ़ा क्या?
X