ताज़ा खबर
 

संघ और गोडसे की परम्परा को आगे बढ़ा रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : कांग्रेस

खादी ग्रामोद्योग आयोग के कैलेण्डर में महात्मा गांधी की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाये जाने पर कांग्रेस ने कड़ा प्रहार किया

खादी उद्योग के कैलेंडर, डायरी में इसी तस्‍वीर का उपयोग किया गया है। (फोटो क्रेडिट – FilterCopy)

खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के कैलेण्डर में चरखे के साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाये जाने पर कांग्रेस ने कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और नाथूराम गोडसे की परम्परा को आगे बढ़ा रहे हैं। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता पी. एल. पुनिया ने खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के कैलेण्डर पर बापू की जगह प्रधानमंत्री की तस्वीर छापे जाने पर शनिवार को कहा कि मोदी गोडसे और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्हें महात्मा गांधी और महान स्वतंत्रता सेनानियों से कोई मतलब नहीं है।

उन्होंने कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग केंद्र सरकार की एक प्रतिष्ठित संस्था है। देश में खादी को बढ़ावा देने के लिए गठित किए गए इस आयोग की परिकल्पना महात्मा गांधी के मत से प्रभावित थी। आजादी की लड़ाई में चरखे और खादी को आधार बना कर अंग्रेजों को यहां से भगाया गया था। अब खादी कमीशन के सालाना कैलेंडर में गांधी जी को हटाकर मोदी ने अपना फोटो लगवाया है, इससे ज्यादा शर्मनाक बात और कोई नहीं हो सकती।

पुनिया ने कहा कि देश की सीमाओं की रक्षा के लिये तैनात सैन्य जवानों के शिकायती वीडियो लगभग रोजाना वायरल हो रहे हैं। वे भोजन, सुविधाओं के अभाव और अधिकारियों द्वारा अपने जूते पालिश करवाने जैसे शोषण की शिकायत के वीडियो भेज रहे हैं, मगर हर छोटी-छोटी बात पर ‘ट्वीट’ करने वाले मोदी इन जवानों की परेशानियों को लेकर ट्वीट नहीं करते। इसका मतलब है कि वह उनको बहुत गंभीरता से नहीं लेते, यह बहुत ही शर्मनाक बात है। मुसलमानों की हज सब्सिडी खÞत्म करने के कें्रद सरकार के विचार पर पुनिया ने कहा कि सब्सिडी मिलने से गरीब मुसलमान भी हज कर आते थे मगर मोदी सरकार के इस फैसले से यह बात साबित हो गयी है कि उन्हें गरीबों की कोई चिंता नहीं है। वह केवल अपना अर्थशास्त्र देखते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App