ताज़ा खबर
 

गोडसे को देशभक्त मानना तो छोड़िए, उस सोच की भी निंदा करते हैं, संसद में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘ नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वे पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे।’’ सिंह ने कहा, ‘‘ उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।’’

Author नई दिल्ली | Updated: November 28, 2019 1:55 PM
केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

लोकसभा में कांग्रेस सहित विपक्षी सदस्यों ने भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाथूराम गोडसे से जुड़े एक विवादित बयान पर सरकार से जवाब मांगते हुए भारी हंगामा किया । राजनाथ सिंह ने स्पष्ट किया कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानने की सोच की पार्टी पूरी तरह निंदा करती है। सरकार के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, एआईएमआईएम सहित विपक्षी दलों ने सदन से वाकआउट किया। प्रश्नकाल शुरू होने पर कांग्रेस एवं विपक्षी दलों ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे के बारे में बुधवार को दिये विवादास्पद बयान की निंदा की और सरकार से जवाब मांगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘ नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वे पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे।’’ सिंह ने कहा, ‘‘ उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।’’ सदन में कांग्रेस के नेता अधीररंजन चौधरी ने कहा कि सदन में कांग्रेस को आतंकी पार्टी बताया गया। जिस पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने देश के लिये बलिदान दिया, उसके बारे में इस प्रकार की टिप्पणी निंदनीय है। यह भाजपा की विचारधारा के कारण हो रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘आप महात्मा गांधी का उपयोग सियासत के लिये करते है, गांधी की विरासत को हमने छीनना का प्रयास कर रहे हैं लेकिन उनको लेकर इस तरह की टिप्पणी की जाती है। पूरी दुनिया इसकी निंदा करती है। हम सरकार से स्पष्टीकरण मांगते हैं । ’’ तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय और एआईएमआईएम के असादुद्दीन औवैसी ने भी अपनी बात रखने का प्रयास किया।

लोकसभा अध्यक्ष ने इसकी अनुमति देने से मना करते हुए कहा कि उस बयान को तभी रिकार्ड से बाहर कर दिया गया था और जो बात रिकार्ड में नहीं है, उस पर सदन में चर्चा नहीं की जा सकती। इसके बाद कांग्रेस, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, एआईएमआईएम सहित विपक्षी दलों ने सदन से वाकआउट किया। हालांकि बीजद, तेदेपा, टीआरएस, बसपा सदस्य सदन में मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘ये सलाखों के पीछे बंद मासूम पी चिदंबरम नहीं हैं, बाहर निकले तो कर देंगे गडमड’, जमानत का विरोध करते SC में बोले SG
2 हमने नक्सलियों को 20 फीट नीचे गाड़ दिया, हिम्मत नहीं कि कोई गड़बड़ी कर सकें; झारखंड में बोले अमित शाह
3 महिला एंकर ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान को बताया घिनौना तो ट्रोल्स ने बनाया निशाना, कहा- आप तो बड़ी वाली चाटुकार निकलीं
जस्‍ट नाउ
X