CWG 2018 India Medal Tally, Commonwealth Games 2018: Mirabai Chanu wins gold in weightlifting 48 kg category -CWG 2018: भारत को पहली सुनहरी सफलता, 48 किग्रा महिला वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू ने जीता गोल्ड - Jansatta
ताज़ा खबर
 

CWG 2018: भारत को पहली सुनहरी सफलता, 48 किग्रा महिला वेट लिफ्टिंग में मीराबाई चानू ने जीता गोल्ड

चानू ने स्नैच में 86 का स्कोर किया और क्लीन एंड जर्क में 110 स्कोर करते हुए कुल 196 स्कोर के साथ स्वर्ण अपने नाम किया।

Author April 5, 2018 1:44 PM
भारत के लिए स्वर्ण जीतने वाली एस चानू। (फोटो सोर्स ट्विटर)

भारत की महिला खिलाड़ी साइखोम मीराबाई चानू ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में गुरुवार (4 अप्रैल, 2018) को भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया है। चानू ने खेलों के पहले दिन महिलाओं की 48 किलोग्राम भार वर्ग स्पर्धा में सोने का तमगा हासिल किया। चानू ने स्नैच में 86 का स्कोर किया और क्लीन एंड जर्क में 110 स्कोर करते हुए कुल 196 स्कोर के साथ स्वर्ण अपने नाम किया। स्नैच और क्लीन एंड जर्क, दोनों में चानू का यह सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रदर्शन है। उन्होंने साथ ही दोनों में राष्ट्रमंडल खेल का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है। स्पर्धा का रजत पदक मॉरिशस की मैरी हैनित्रा के नाम रहा। इससे पहले, गुरुवार को ही भारोत्तोलन में ही गुरुराज ने भारत को पहला पदक दिलाया था। वह पुरुषों की 56 किलोग्राम भार वर्ग स्पर्धा में रजत जीतने में सफल रहे थे। गुरुराज ने स्नैच में 111 का स्कोर किया तो वहीं क्लीन एंड जर्क में 138 का स्कोर किया। उन्होंने कुल 249 का स्कोर करते हुए पदक अपने नाम किया।

इस स्पर्धा का स्वर्ण मलेशिया के मुहामेद इजहार अहमद हाजालवा के नाम रहा। उन्होंने कुल 261 का स्कोर किया। उन्होंने स्नैच में 117 का स्कोर किया जो एक नया रिकॉर्ड है। इस मामले में उन्होंने नई दिल्ली में 2010 में खेले गए राष्ट्रमंडल खेलों में अपने हमवतन इब्राहिम द्वारा स्थापित किए रिकॉर्ड को ध्वस्त किया। क्लीन एंड जर्क में मलेशियाई खिलाड़ी ने 144 का स्कोर किया। स्पर्धा में कांस्य श्रीलंका के चाटुरंगा लकमल के नाम रहा। उन्होंने स्नैच में 110 और क्लीन एंड जर्क में 134 का स्कोर किया। इजहार ने पिछले साल राष्ट्रमंडल चैम्पियनशिप में जीत हासिल की थी। उन्होंने एक किलोग्राम से अपने उस स्कोर को बेहतर किया। फिजी के मैनुएली तुलो ने काफी मेहनत की, लेकिन वो सिर्फ चौथा स्थान हासिल कर सके। तुलो काफी समय तक पदक की दौड़ में थे, लेकिन आखिर के दो प्रयासों में वो सफलता हासिल नहीं कर सके और पदक से चूक गए।

गुरुराज ने अच्छी शुरुआत की और पहले प्रयास में ही बढ़त ले ली। उन्होंने स्नैच में पहला प्रयास 107 किलोग्राम के किया जो सफल रहा। तुलो ने दूसरे प्रयास में 108 किलोग्राम का भार उठाया, लेकिन उनके प्रयास में तकनीकी गलती के कारण ज्यूरी ने उसे नकार दिया। लकमल ने 110 किलोग्राम का पहला भार उठाया और सफलता हासिल की। इजहार ने 114 किलोग्राम का भार उठाते हुए सफलता हासिल की। इसके बाद उन्होंने दूसरे प्रयास में 117 किलोग्राम का भार उठाते हुए रिकॉर्ड बनाया। उनके पास अपने इस रिकॉर्ड को और बेहतर करने का मौका था, लेकिन 119 किलोग्राम के प्रयास में वह चूक गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App