पीयूष गोयल ने टाटा की औद्योगिक नीतियों को बताया राष्ट्रविरोधी, कांग्रेस बोली- जो बोया, वही काटोगे

उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कन्फेडरेशन ऑफ इंडिया इंडस्ट्री (CII) की बैठक में भारतीय बिजनसमैन की व्यापार नीति को देशहित के खिलाफ बता दिया। जिसके बाद से इस बयान पर विवाद बढ़ गया है।

piyush goyal tata remrk
उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (फोटो- PTI)

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल के एक बयान ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। गोयल ने भारतीय बिजनसमैन की व्यापार नीति को देशहित के खिलाफ बताया है। इस दौरान उन्होंने टाटा ग्रुप को खास तौर पर निशाने पर लिया।

कन्फेडरेशन ऑफ इंडिया इंडस्ट्री (CII) की सलाना बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उद्योग मंत्री पीयूष गोयल जुड़े थे। द हिंदू की एक रिपोर्ट के अनुसार, गोयल ने अपनी टिप्पणियों में बार-बार टाटा समूह की आलोचना की और कहा, “क्या आपके जैसी कंपनी, एक-दो आपने शायद कोई विदेशी कंपनी ख़रीद ली… उसका महत्व ज़्यादा हो गया, देश हित कम हो गया?

गोयल ने टाटा संस का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने उपभोक्ताओं की मदद के लिए बनाए गए नियमों का विरोध किया। गोयल ने कहा कि हम सभी को इस दृष्टिकोण से परे जाने की जरूरत है। गोयल की इस टिप्पणी की तुरंत आलोचना होने लगी। उद्योग जगत से लेकर विपक्ष तक ने उद्योग मंत्री की इस टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया दी।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि वह भारतीय उद्योग पर गोयल के “बिना उकसावे के हमले” से स्तब्ध हैं। पहले, उन्होंने राज्यसभा नहीं चल सके ये सुनिश्चित किया और अब यह विचित्र अत्याचार! वह आधिकारिक मंजूरी के बिना नहीं बोल सकते हैं, है ना?”

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने दावा किया कि यह बयान देकर, गोयल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इन इंडिया’ के नारे का मजाक उड़ाया है। उन्होंने कहा- “एक तरफ बीजेपी सरकार ने टाटा को भारत की नई संसद बनाने का ठेका दिया है और दूसरी तरफ बीजेपी मंत्री पीयूष गोयल (मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार) उन्हें देशद्रोही चेहरा बता रहे हैं बीजेपी डबल स्पीक की कोई सीमा नहीं है “!!

कुछ नेताओं ने हाल के वर्षों में बीजेपी का समर्थन करने के लिए इंडिया इंक पर भी कटाक्ष किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा, “आप वही काटते हैं जो आप INDIA INC में बोते हैं। बॉम्बे क्लब 1.0 ने 2012-2014 के बीच एनडीए/बीजेपी सरकार बनाई। एक पार्टी भी नहीं एक व्यक्ति के पीछे सामूहिक भार डाला और अब पीयूष गोयल उन्हें देशद्रोही बताते हैं”।

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा ने कहा, “प्रिय कॉर्पोरेट भारत, एक आदमी जो कुछ भी बोता है, वह काटेगा। शुभकामनाएं”। शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि उद्योगपतियों के खिलाफ जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया है और उनके काम को देश के खिलाफ बताया गया, वह शर्मनाक है। “सीआईआई को  उसकी मदद करने के बजाय माफी की मांग करनी चाहिए।

इस मामले में अभी तक टाटा समूह की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। बात दें कि CII ने विवाद होने के बाद इस वीडियो को हटा लिया था, बाद में एडिट करके इसे यूट्यूब पर अपलोड किया, लेकिन इसे भी ब्लॉक कर दिया गया है।

 

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट