कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को गिरफ्तारी के 35 दिन बाद मिली जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश पुलिस को जारी किया नोटिस

मुनव्वर फारूकी को मध्य प्रदेश के इंदौर में पुलिस ने 1 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया था, उन पर यहां स्टैंड-अप कॉमेडी शो के दौरान हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने का आरोप लगा था।

Munawar Faruqui, Indore
मुनव्वर फारूकी को 1 जनवरी को इंदौर पुलिस ने भाजपा विधायक एकलव्य गौड़ (बाएं) की शिकायत के बाद गिरफ्तार किया था।

हिंदू देवी-देवताओं को लेकर कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के मामले में गुजरात के हास्य कलाकार मुनव्वर फारुकी को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है। पिछले हफ्ते ही मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी थी। हालांकि, इसके खिलाफ फारुकी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी। बता दें कि मुनव्वर फारुकी को 1 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। वे यहां हास्य कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे। उनके अलावा चार अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने फारुकी को जमानत देने के साथ ही उनकी याचिका पर मध्य प्रदेश पुलिस को नोटिस भी जारी किया है। बताया गया है कि फारुकी के वकील ने रिट पिटीशन के साथ अपील के लिए स्पेशल लीव पिटीशन भी दायर की थी। इन दोनों याचिकाओं पर जज जस्टिस आरएफ नरीमन और जस्टिस बीआर गवई की बेंच ने सुनवाई की। कोर्ट ने फारुकी को अतिरिक्त राहत देते हुए यूपी पुलिस की तरफ से उनकी पेशी के लिए जारी हुए एक अन्य वॉरंट पर भी रोक लगा दी।

बता दें कि पहले जिला अदालत के एक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट और इसके बाद एक सत्र न्यायाधीश फारुकी की जमानत अर्जियां दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद खारिज कर दी थीं। इसके बाद हास्य कलाकार ने जमानत पर रिहाई के लिए उच्च न्यायालय की शरण ली। हालांकि, यहां भी उनकी याचिका खारिज हो गई थी।

एमपी हाईकोर्ट ने जमानत याचिका खारिज करते हुए कहा था कि शिकायतकर्ता के वकील के चुनिंदा अभिकथन से साफ है कि याचिकाकर्ता (मुनव्वर फारूकी) और मामले में सहआरोपियों ने सोशल मीडिया पर पिछले 18 महीनों में कथित तौर पर हिंदू देवी-देवताओं, भगवान श्रीराम और देवी सीता पर भद्दे जोक्स बनाए। जबकि इसके खिलाफ सोशल मीडिया पर विरोध भी दर्ज कराए गए। जबकि इसके उलट कुछ भी रिकॉर्ड में मौजूद नहीं है। जज ने कहा था कि अब तक जितने भी सबूत इकट्ठा किए गए हैं उनसे सामने आया है कि याचिकाकर्ता ने स्टैंड-अप कॉमेडी शो के बहाने जानबूझकर कुछ नागरिकों की धार्मिक भावनाओं को आहत किया था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दीपिका-अर्जुन को मिली बड़ी राहत, ‘फाइंडिंग फैनी’ से हटा बैन
अपडेट