कैप्टन के बाद नए सीएम चन्नी भी नवजोत सिंह सिद्धू से परेशान, बैठक में पहुंच गई इस्तीफा देने तक की बात!

नवजोत सिंह सिद्धू से तकरार के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह तो किनारे हो गए लेकिन पार्टी की राज्य ईकाई में चल रही तनातनी अभी खत्म नहीं हुई है।

CM Charanjit Singh Channi, Navjot Singh Sidhu
चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो-Indian Express)

नवजोत सिंह सिद्धू से तकरार के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह तो किनारे हो गए लेकिन पार्टी की राज्य ईकाई में चल रही तनातनी अभी खत्म नहीं हुई है। अब राज्य के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सिद्धू के बीच तनातनी की स्थिति पैदा हो गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जिन 13 सूत्रीय एजेंडा को लेकर सिद्धू ने कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी, उसी चिट्ठी को लेकर रविवार को हुई बैठक में सिद्धू और चन्नी के बीच भिड़ंत हो गई।

चंडीगढ़ के गवर्नर हाउस में हुई बैठक में दोनों नेताओं के बीच जोरदार नोकझोंक हुई, इस दौरान पंजाब कांग्रेस के पर्यवेक्षक हरीश चौधरी और पीसीसी के महासचिव परगट सिंह भी मौजूद थे। मीटिंग के दौरान सिद्धू द्वारा 13 सूत्रीय एजेंडा उठाए जाने से सीएम चन्नी इस कदर बिफर गए कि उन्होंने इस्तीफे की पेशकश तक कर डाली, इतना ही नहीं उन्होंने सिद्धू को चैलेंज करते हुए कहा कि वह दो महीने के लिए मुख्यमंत्री बनें और इस 13 सूत्रीय एजेंडे पर कार्रवाई करके दिखाएं।

सूत्रों का दावा है कि सिद्धू, सीएम चन्नी पर बादल परिवार के कारोबारों पर कार्रवाई करने का दबाव बना रहे हैं। इस बात का जिक्र उन्होंने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी में भी किया था।

चिट्ठी के अनुसार, सिद्धू ने सोनिया गांधी से कहा था पंजाब कि एसटीएफ ने अपनी रिपोर्ट में जिन दो बड़ी मछलियों को पकड़े जाने का जिक्र किया था, उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।