केंद्र सरकार के पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने के बाद सीएम गहलोत ने कहा- राज्यों का वैट तो खुद ही कम हो जाता है

सीएम गहलोत ने ट्विटर पर एक लिखित पेज भी पोस्ट किया है, जिसमें कहा गया है हम शुरू से ही केंद्र सरकार को एक्साइज ड्यूटी कम करने का आग्रह करते रहे हैं, जिससे आमजन को एक्साइज ड्यूटी और वैट में कमी का लाभ एक साथ मिल सके।

Ashok Gehlot
गहलोत ने कहा कि हमारी मांग है कि महंगाई को कम करने के लिए केंद्र को और अधिक एक्जाइज ड्यूटी कम करनी चाहिए। (फाइल फोटो/ Indian Express)

केंद्र सरकार के पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने के बाद राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि केंद्र को और ज्यादा एक्जाइज ड्यूटी कम करनी चाहिए।

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘केंद्र द्वारा एक्साइज ड्यूटी कम करने के साथ ही राज्यों का उसी अनुपात में वैट खुद ही कम हो जाता है, फिर भी हमारी मांग है कि महंगाई को कम करने के लिए केंद्र को और अधिक एक्जाइज ड्यूटी कम करनी चाहिए।’

सीएम गहलोत ने ट्विटर पर एक लिखित पेज भी पोस्ट किया है, जिसमें कहा गया है हम शुरू से ही केंद्र सरकार को एक्साइज ड्यूटी कम करने का आग्रह करते रहे हैं, जिससे आमजन को एक्साइज ड्यूटी और वैट में कमी का लाभ एक साथ मिल सके।

बता दें कि दिवाली से पहले मोदी सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती का ऐलान किया है। इससे तेल के दाम कम होंगे। गुरुवार से घटी हुई कीमतें लागू होंगी।

भारत सरकार ने दिवाली की पूर्व संध्या पर पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी की घोषणा की थी। पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कल से क्रमशः 5 रुपये और 10 रुपये कम किया जाएगा। यह घोषणा ऐसे समय में हुई है, जब पेट्रोल और डीजल की कीमतें देश भर में रिकॉर्ड ऊंचाई पर है और लोग इसके कारण परेशान हो रहे हैं।

बुधवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 110.04 रुपये प्रति लीटर थी। जबकि डीजल 98.42 रुपये में मिल रहा था। मुंबई में पेट्रोल 115.85 रुपये पर बिक रहा था, जबकि डीजल की कीमत 106.62 रुपये थी। देश में ईंधन की कीमतें राज्य के कर और माल ढुलाई शुल्क के आधार पर तय होती है। जिसके कारण अलग-अलग राज्यों में कीमतें भिन्न होती हैं। इसके अलावा केंद्र सरकार भी तेल पर उत्पाद शुल्क लेती है।

देश के चार महानगरों की तुलना करें तो मुंबई में पेट्रोल और डीजल सबसे महंगे मिल रहे हैं। बता दें कि देश में केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लगाए गए उत्पाद शुल्क के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमत रिकॉर्ड ऊंचाई पर है।

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में विदेशी विनिमय दरों के साथ कच्चे तेल की कीमत के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमतें रोजाना अपडेट की जाती हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट