ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: 5 साल पहले 10वीं कक्षा का टॉपर रहा छात्र बना आतंकी, मुठभेड़ में मारा गया

इशाक पिछले साल मार्च में हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा था। चार साल पहले उसने 10वीं की परीक्षा में 98.4 प्रतिशत अंक हासिल किए थे।

कश्‍मीर के डाडसर गांव में एक आतंकी के अंतिम संस्‍कार के दौरान रोती महिलाएं। (Photo:AP)

जम्‍मू कश्‍मीर के त्राल में सेना के साथ मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकियों में एक 10वीं कक्षा का टॉपर भी था। उसका नाम मोहम्‍मद इशाक परे था। इशाक पिछले साल मार्च में हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा था। चार साल पहले उसने 10वीं की परीक्षा में 98.4 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। कश्‍मीर जोन में उसने नौवीं रैंक हासिल किया था। साथी उसे ‘न्यूटन’ कहकर पुकारा करते थे।

उसके साथ मारे गए दो अन्‍य आतंकियों में से एक ए प्‍लस और दूसरा ए श्रेणी का आतंकी था। सैन्‍य अधिकारी ने कहा, ‘मारे गए आतंकियों में एक का नाम आशिक हुसैन भट है। वह चारसू गांव का रहने वाला है। वह पिछले साल हुए उधमपुर हमले के मामले में वांछित था।’ भट ए प्‍लस श्रेणी का आतंकी था वह हिजबुल के साथ अगस्‍त 2014 जुड़ा था एक अन्‍य आतंकी का नाम आसिफ अहमद मीर था और वह जुलाई 2014 में संगठन से जुड़ा था। सेना का कहना है कि मारे गए आतंकियों के पास से तीन एके-47 राइफल बरामद की गर्इ।

मुठभेड़ के दौरान कुछ युवकों ने सेना पर पत्थरबाजी भी की। मुठभेड़ के बाद सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया। वहीं जम्मू के आरएस पुरा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गुरुवार को सीमा सुरक्षा बलों (बीएसएफ) ने पाकिस्तान से भारतीय क्षेत्र तक फैली 30 मीटर लंबी सुरंग का पता लगाया है। यह इस क्षेत्र में 2012 से अब तक पता लगाई गई चौथी सुरंग है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App