ताज़ा खबर
 

VIDEO: भारत बंद के दौरान बंगाल में बवाल! आपस में भिड़े TMC और SFI वर्कर; जमकर चले लात घूंसे

देश के प्रमुख संघों इंटक, सीटू, सेवा, एआईटीयूसी, एचएमएस, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ और यूटीयूसी ने बुधवार (8 जनवरी) को देशव्यापी हड़ताल का किया है और उनका दावा है कि इस में 25 करोड़ श्रमिक शामिल।

Author कोलकाता | January 8, 2020 2:09 PM
बंगाल में भारत के बंद के दौरान रैली निकालते संगठन, फोटो सोर्स- ANI

केंद्र सरकार की ‘‘जन-विरोधी’’नीतियों के खिलाफ बुधवार को एक दिन के हड़ताल के लिए बुलाया गया है। इसके समर्थन में मजदूर संगठनों के साथ वामपंथी दलों और कांग्रेस समर्थकों समेत दल यूनिन भाग ले रहे है। प्रदर्शनों के चलते पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात बाधित हुआ। इस दौरान तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के कार्यकर्ताओं के बीच बर्दवान में झंड़प हो गई। हालांकि किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है।

सड़क और रेल पटरियों को बंद किया गया: हड़ताल समर्थकों ने राज्य के कुछ हिस्सों में रैलियां निकालीं और उत्तर 24 परगना जिले में सड़कों और रेलवे पटरियों को अवरुद्ध कर दिया। हालांकि, पुलिस ने तत्काल वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए उन्हें हटा दिया। कोलकाता में सरकारी बसें सामान्य रूप से चल रही हैं, लेकिन शुरुआती घंटों में निजी बसों की संख्या कम थी। इस दौरान शहर में मेट्रो सेवाएं सामान्य थीं और सड़कों पर ऑटो-रिक्शा तथा टैक्सियां भी चल रही थीं। साथ ही शहर के कई इलाकों में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है।

Hindi News Today, 8 January 2020 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

प्रदर्शन में  25 करोड़ श्रमिक शामिल:  उत्तर बंगाल के कुछ इलाकों में तृणमूल कांग्रेस ने हड़ताल का विरोध करते हुए रैलियां निकालीं और लोगों से सामान्य स्थिति बनाए रखने का आग्रह किया। देश के प्रमुख संघों इंटक, सीटू, सेवा, एआईटीयूसी, एचएमएस, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ और यूटीयूसी ने बुधवार (8 जनवरी) को देशव्यापी हड़ताल का किया है और उनका दावा है कि इस में 25 करोड़ श्रमिक शामिल।

राहुल गांधी ने किया समर्थन: बता दें कि राहु्ल गांधी भारत बंद का समर्थन करते हुए ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘‘मोदी-शाह सरकार की जनविरोधी, श्रमिक विरोधी नीतियों ने भयावह बेरोजगारी पैदा की है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को कमजोर किया जा रहा है, ताकि इन्हें मोदी के पूंजीपति मित्रों को बेचने को सही ठहराया जा सके।’’

Next Stories
1 ‘सीधे मुद्दे पर आएं, जल्दी कार्यक्रम निपटाएं’, पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में अमित शाह ने हड़काया
2 CAA विवादः ‘धीरे से गाड़ी पकड़ लो और निकल लो’, घुसपैठियों को लेकर बोले दिल्ली BJP चीफ मनोज तिवारी
3 23 बार फोन करने के बावजूद साढ़े पांच घंटे बाद JNU पहुंची थी दिल्ली पुलिस, यूनिवर्सिटी बना रहा रणक्षेत्र, रजिस्ट्रार ने उठाये सवाल
आज का राशिफल
X