ताज़ा खबर
 

सिक्किम में चीनी सैनिकों से झड़प की खबरों पर भारतीय सेना ने जारी किया ये बयान

पिछले हफ्ते सिक्किम के नाकूला में भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच झड़प की जानकारी सामने आई है।

सिक्किम के नाकूला में भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच झड़प।

पिछले हफ्ते सिक्किम के नाकूला में भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच झड़प की जानकारी सामने आई है। मामले में चीनी सेना का गश्ती दल भारतीय क्षेत्र में आने का प्रयास कर रहा था। जिसके बाद भारतीय सेना ने उन्हें रोकने की कोशिश की। मामले में सेना ने कहा है, ”सिक्किम सेक्टर में भारतीय सेना और चीनी सैनिकों के बीच झड़प होने के बारे में हमसें कई सवाल पूछे गए हैं। यह साफ किया जाता है कि 20 जनवरी 2021 को उत्तरी सिक्किम के नाकूला क्षेत्र में एक मामूली झड़प हुई थी और स्थानीय कमांडरों ने इसे तय प्रोटोकॉल के मुताबिक सुलझा लिया था। मीडिया से अनुरोध है कि वे ऐसी रिपोर्टिंग न करें जो कि तथ्यों को गलत तरीके से पेश करती हों।” (Army said in a statement: “We have received several queries regarding a face-off between Indian Army and PLA troops in Sikkim sector.
It is clarified that there was a minor face-off at Nakula area of North Sikkim on 20 January 2021 and the same was resolved by local commanders as per established protocols. Media is requested to refrain from overplaying or exaggerating reports which are factually incorrect.”)

मालूम हो कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में आठ महीने से गतिरोध बना हुआ है। इसने दोनों देशों के संबंधों को काफी प्रभावित किया है। दोनों पक्षों के बीच कूटनीतिक और सैन्य वार्ता लगातार जारी है। हालांकि, गतिरोध को समाप्त करने में कोई सफलता नहीं मिली है। यह घटना लद्दाख गतिरोध को खत्म करने को लेकर दोनों देशों के बीच सैन्य-स्तरीय वार्ता के नौवें दौर से ठीक पहले हुई।

इससे पहले नवंबर में आयोजित कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता में, दोनों पक्ष यह सुनिश्चित करने के लिए सहमत हुए थे कि उनके सैनिक संयम बरतेंगे और वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर किसी भी गलतफहमी से बचेंगे। हालाँकि, उस समय वार्ता बेनतीजा रही थी।

पिछले साल भारत और चीन के सैनिकों के बीच जून में पूर्वी लद्दाख में झड़पें हुईं थी। जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। चीन के सैनिक भी मारे गए थे लेकिन उसने संख्या नहीं बताई थी। यहां तक कि भारत और चीन सीमा पर 45 वर्षों में पहली बार गोलीबारी भी हुई थी।

अपनी वार्षिक रिपोर्ट में, रक्षा मंत्रालय ने कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर एक से अधिक क्षेत्रों में यथास्थिति को बदलने के लिए चीनी सेना द्वारा “एकतरफा और उत्तेजक” कार्रवाइयों का जवाब दिया गया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय सेना चीनी सेना द्वारा किसी भी “दुस्साहस” का मुकाबला करने के लिए अच्छी तरह से तैयार है। साथ ही साथ इस मुद्दे को सौहार्दपूर्ण तरीके से सुलझाने के लिए बातचीत भी आगे बढ़ रही है।

थल सेनाध्यक्ष ने पिछले महीने पूर्वी लद्दाख का दौरा किया था और भारत की समग्र सैन्य तैयारियों की समीक्षा की।

बता दें कि भारतीय सेना के लगभग 50,000 जवान पूर्वी लद्दाख में तैनात हैं क्योंकि दोनों पक्षों के बीच कई दौर की वार्ता बेनतीजा रही है। अधिकारियों के अनुसार, चीन ने भी इतनी ही संख्या में सैनिकों को तैनात किया है।

Next Stories
1 प्रधानमंत्री से जुड़े इवेंट में भाजपा ऑफिस से दिए 400 निमंत्रण पत्र, एसपीजी नेट को पार कर पहुंच भी गए
2 PMSVANidhi: स्ट्रीट वेंडरों को कर्ज देने में यूपी टॉप पर, बंगाल रहा सबसे फिसड्डी; देखिए लिस्ट
3 आधार की तरह अब आप पीडीएफ़ वोटर आईडी कार्ड भी कर सकते हैं डाउनलोड, ये है आसान तरीका
यह पढ़ा क्या?
X