ताज़ा खबर
 

मप्र के आठ नगरीय निकायों में पांच पर कांग्रेस की जीत

मध्य प्रदेश के रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में मिली शानदार सफलता के बाद हाल ही में प्रदेश के आठ स्थानों पर हुए नगरीय निकायों के चुनाव में से कांग्रेस ने शनिवार को पांच स्थानों पर विजय हासिल की है..

Author भोपाल | December 27, 2015 5:13 AM
इन तीन सालों में तो आम आदमी पार्टी (आप) ने भाजपा को कुछ नुकसान पहुंचाया लेकिन कांग्रेस का तो सफाया ही कर दिया..

मध्य प्रदेश के रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में मिली शानदार सफलता के बाद हाल ही में प्रदेश के आठ स्थानों पर हुए नगरीय निकायों के चुनाव में से कांग्रेस ने शनिवार को पांच स्थानों पर विजय हासिल की है। प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा तीन स्थानों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सिहोर सहित मंदसौर और शहगंज नगर परिषद के चुनाव में विजयी रही, जबकि कांग्रेस ने शाजापुर नगर परिषद सहित जबलपुर जिले की भेड़ाघाट नगर पंचायत, सीधी जिले की मझौली नगर पंचायत, रतलाम जिले की धामनोद नगर पंचायत और टीकमगढ़ जिले की ओरछा नगर पंचायत के चुनाव जीतने में कामयाबी हासिल की। स्थानीय चुनावों में मिली इस सफलता से प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में यहां उत्साह का माहौल बन गया। इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोड़कर और मिठाई बांटकर अपनी खुशी का इजहार किया।

प्रदेश के आठ स्थानीय निकायों के कुल 193 वार्डों में चुनाव हुए। इनमें से भाजपा को 93 वार्डों पर विजय मिली, जबकि कांग्रेस के खाते में 60 वार्ड आए। लेकिन कुल मिलाकर कांग्रेस ने आठ में से पांच स्थानीय निकायों पर विजय हासिल की, जबकि भाजपा तीन निकायों तक सीमित रही। लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के मुख्य सचेतक और गुना संसदीय क्षेत्र से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस की विजय के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया और विजयी उम्मीदवारों को बधाई दी।

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा कि भाजपा की बदली हुई बयार जो बिहार से चली, झाबुआ पहुंची और अब इन पांच स्थानों पर उसे नकारात्मक संदेश मिला है। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों में कांगे्रस की जीत से पूरे प्रदेश की फिजा बदलेगी और भाजपा का पतन अब शुरू हो गया है।

उन्होंने कहा कि यह जीत चुनिंदा क्षेत्रों की नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश की जीत है, क्योंकि ये पांचों नगरीय निकाय प्रदेश के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों के हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने कहा कि पार्टी पूरी विनम्रता के साथ इस जनादेश को स्वीकार करती है। उन्होंने कहा कि पार्टी अपनी कमियों का आकलन करेगी और लोगों की सेवा करने में अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

तीन सीटों तक ही सीमित रही भाजपा:
प्रदेश के आठ स्थानीय निकायों के कुल 193 वार्डों में चुनाव हुए। इनमें से भाजपा को 93 वार्डों पर विजय मिली, जबकि कांग्रेस के खाते में 60 वार्ड आए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App