ताज़ा खबर
 

नागरिकता विवादः CAA पर 154 पूर्व जजों, IPS अफसरों ने लिखी राष्ट्रपति को चिट्ठी, कहा- उपद्रवियों पर फौरन हो ऐक्शन

चिट्ठी में कहा गया है कि उपद्रवियों पर फौरन ऐक्शन लिया जाना चाहिए।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो: Indian Express

देश की 154 हस्तियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखकर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के नाम पर हिंसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इनमें पूर्व जज और अफसर शामिल हैं। चिट्ठी में कहा गया है कि उपद्रवियों पर फौरन ऐक्शन लिया जाना चाहिए। हालांकि चिट्ठी में किसी भी संगठन, दल या व्यक्ति विशेष का नाम नहीं लिया गया है।

चिट्ठी में लोकतांत्रित संस्थाओं को सुरक्षा प्रदान करने की भी अपील की गई है। इसके साथ ही कहा गया है कि सीएए भारतीय नागरिकों पर कोई असर नहीं डालता, इसलिए नागरिकों के अधिकारों और आजादी पर खलल डालने का दावा सही नहीं ठहरता। ‘द्वेषपूर्ण’ माहौल पैदा करने के लिए कुछ संगठनों की समाज में विभाजन पैदा करने की हरकत से वह चिंतिंत है।

केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण के प्रेसिडेंट और सिक्किम हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायधीश प्रमोद कोहली के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने सीएए और नेशनल रजिस्ट्रर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) को लेकर हुई हिंसा और खराब माहौल पर राष्ट्रपति से मुलाकात भी की। इस मुलाकात में मौजूदा हालातों पर चिंता जताई गई।

इस चिट्ठी में हस्ताक्षर करने वालों में 11 पूर्व न्यायाधीश, तीनों प्रशासनिक सेवाओं के अधिकारी, पूर्व राजनयिक समेत 72 हस्तियां शामिल हैं। इनके अलावा रक्षा क्षेत्र से जुड़े रहे 56 टॉप अधिकारी, एकेडमिक स्कॉलरशिप चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोग शामिल हैं।

मालूम हो कि सीएए-एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के  दौरान देशभर के अलग-अलग हिस्सों में अबतक 21 लोगों की मौत हुई है। वहीं करोड़ों की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। हालांकि कई जगहों पर अब भी विरोध प्रदर्शन जारी है लेकिन यह शांतिपूर्ण तरीके से किया जा रहा है। वहीं कुछ जगहों पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन हिंसक रूप धारण कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘मजदूर पोहा नहीं सिर्फ हलवा खाएं तभी वे भारतीय कहे जाएंगे’, ओवैसी का बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय पर तंज
2 तमिलनाडु में तोड़ी पेरियार की मूर्ति, इलाके में तनाव; अभिनेता रजनीकांत के बयान पर विवाद
3 JNU Hostel Fee Hike: दिल्ली हाई कोर्ट ने की सुनवाई, विश्वविद्यालय, MHRD व UGC को भेजा नोटिस
ये पढ़ा क्या?
X