ताज़ा खबर
 

CAB को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, IUML के चार सांसदों ने नागरिकता संशोधन बिल खारिज करने की दी अर्जी

आईयूएमएल द्वारा दाखिल की गई याचिका में बिल को असंवैधानिक करार देते हुए रद्द करने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि ये बिल धर्म के आधार पर वर्गीकरण करता है और इससे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन होता है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: December 12, 2019 12:21 PM
सुप्रीम कोर्ट, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -ANI)

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) ने नागरिकता संशोधन बिल को बृहस्पतिवार को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी। इससे एक दिन पहले यह विधेयक राज्यसभा में पारित हो गया। इसमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न से परेशएान होकर भागकर भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है। आईयूएमएल ने आरोप लगाया कि यह विधेयक संविधान के समानता के मौलिक अधिकार का उल्लंघन करता है।

यह अर्जी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के चार ससदों ने लगाई है। आईयूएमएल द्वारा दाखिल की गई याचिका में बिल को असंवैधानिक करार देते हुए रद्द करने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि ये बिल धर्म के आधार पर वर्गीकरण करता है और इससे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन होता है। याचिका में कैब पर अतंरिम रोक लगाने की मांग की गई है। याचिका में ये भी कहा गया है कि केंद्र को आदेश दिया जाए कि इस मामले में आगे की कार्रवाई ना करे।

बता दें संसद ने बुधवार को नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है। राज्यसभा ने बुधवार को विस्तृत चर्चा के बाद इस विधेयक को पारित कर दिया। सदन ने विधेयक को प्रवर समिति में भेजे जाने के विपक्ष के प्रस्ताव और संशोधनों को खारिज कर दिया। विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया। इससे पहले ये बिल सोमवार को लोकसभा में पास हो गया था। कैब को लोकसभा में 80 वोटों के खिलाफ 311 वोटों के बहुमत के साथ पारित किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अयोध्या, अनुच्छेद 370, भारत-पाकिस्तान, हिन्दू-मुस्लिम जैसे विषयों पर ड्रामा कम्पीटिशन करने पर रोक, 40 साल में ऐसा पहली बार!
2 नरौदा पाटिया, गुलबर्ग सोसायटी में सैकड़ों लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया था पुलिस ने: नानावती आयोग
3 नागरिकता बिल फंस गई शिवसेना? फडणवीस बोले- सत्ता के लालचियों पर तरस आता है तो कांग्रेस नेता ने संजय राउत पर कसा तंज
ये पढ़ा क्या?
X