ताज़ा खबर
 

Citizenship Amendment Bill 2019: मोदी सरकार को झटका देने की तैयारी में शिवसेना, राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल का नहीं करेगी समर्थन!

Citizenship Amendment Bill 2019: महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी रह चुकी शिवसेना ने लोकसभा में इस बिल को पास करने के लिए इसके पक्ष में वोट किया था लेकिन पार्टी केंद्र सरकार को झटका देने के मूड में नजर आ रही है।

Author नई दिल्ली | Updated: December 10, 2019 7:18 PM
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि पार्टी राज्यसभा में इस बिल का समर्थन नहीं करेगी जबतक कि यह इस बिल से संबंधित उनके कुछ सवालों का जवाब नहीं मिलता है।

Citizenship Amendment Bill 2019: लोकसभा में नागरिकता संसोधन बिल 2019 को लोकसभा में पास होने के बाद केंद्र सरकार के सामने इसे राज्यसभा में पास कराने की चुनौती है। महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी रह चुकी शिवसेना ने लोकसभा में इस बिल को पास करने के लिए इसके पक्ष में वोट किया था लेकिन पार्टी केंद्र सरकार को झटका देने के मूड में नजर आ रही है।

दरअसल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि पार्टी राज्यसभा में इस बिल का समर्थन नहीं करेगी जबतक कि यह इस बिल से संबंधित उनके कुछ सवालों का जवाब नहीं मिलता है।

ठाकरे ने कहा कि “हमने कई सवाल पूछे हैं।  इन सवालों में  राष्ट्रीय सुरक्षा से लेकर भारत के विभिन्न राज्यों में स्थानीय लोगों के अधिकार से जुड़े सवाल शामिल हैं। यदि इन प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया जाता है, तो हम राज्य सभा में CAB का समर्थन नहीं करेंगे। इसका समर्थन या विरोध करने वाली हर पार्टी राष्ट्रीय हित में स्पष्टता के लिए कह रही है और सरकार द्वार इसे  सुनिश्चित किया जाना चाहिए।”

बता दें कि  राज्यसभा की वर्तमान संख्या 238 है। उच्च सदन में भाजपा के 83 सांसद हैं और पार्टी सूत्रों के अनुसार, राज्यसभा में 122 सदस्य पहले से ही सीएबी का समर्थन कर रहे हैं और पार्टी को उम्मीद है कि अधिक दल उनके साथ जुड़ेंगे। अपने पिछले कार्यकाल में, सरकार संख्या की कमी के कारण राज्य सभा में विधेयक को आगे नहीं बढ़ा सकी।

गौरतलब है कि सोमवार को लोकसभा में बिल पास हो गया। 6 घंटे तक चली बहस के दौरान बिल को लेकर चर्चा हुई। बिल के पक्ष में 311 संसदों ने वोट दिया जबकि बिल के खिलाफ 80 वोट पड़े।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 शिवसेना ने कहा- इकोनॉमी के बेहतरीन डॉक्टर हैं रघुराम राजन उनका इलाज ही दूर करेगा बीमारी, सामना में लेख के जरिये मोदी सरकार पर साधा निशाना
2 बीएचयू के संस्कृत विभाग में नियुक्ति पर विवाद के बाद प्रो. फिरोज खान ने दिया इस्तीफा, अब यूनिवर्सिटी की आर्ट्स फैकल्टी में पढाएंगे
3 Citizenship Amendment Bill के समर्थन में आगे आए सिंगर अदनान सामी, कहा- धर्म के आधार पर अपने देश में परेशानियों का सामना करने वाले लोगों के लिए है बिल
ये पढ़ा क्या?
X