ताज़ा खबर
 

CAA विरोध: मालेगांव में मौलाना ने कहा- अब कागजात जुटाना छोड़ो, सड़कों पर उतरो

Citizenship Amendment Act Protests : हालांकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मालेगांव इकाई के अध्यक्ष किशोर गायकवाड़ ने अल्पसंख्यकों में डर व्याप्त होने की बात से इनकार किया है।

Muslim, hinduमौलाना ने कहा कि मुस्लिमों में डर व्याप्त है। फोटो सोर्स – ANI

Citizenship Amendment Act Protests : 

‘अब कागजात जुटाना छोड़ो, सड़कों पर उतरो।’…यह कहना है All India Muslim Personal Law Board के सचिव, मौलाना उमरेन महफूज रहमानी का। पिछले कुछ दिनों से देश भर में Citizenship Amendment Act और National Register of Citizens के चल रहे प्रदर्शन के बीच अब जाने-माने मुस्लिम नेता ने बड़ा बयान दिया है। मौलाना उमरेन महफूज रहमानी ने कहा कि ‘बीते कुछ दिनों में हमने लोगों से कहा है कि वो कागजात जुटाने की चिंता छोड़ दें…नागरिकता संशोधन बिल के कानून बनने के बाद हम लोग लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो सड़कों पर उतरें।’ यहां आपको बता दें कि मौलाना उमरेन महफूज रहमानी ‘Dastoor Bachao Committee’ के संस्थापक भी हैं।

मौलाना रहमानी ने ही बीते गुरुवार को मालेगांव में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन का आयोजन किया था। इस प्रदर्शन के दौरान सीएए और एनआरसी के खिलाफ लोगों ने नारे लगाए थे और मार्च भी निकाला था। मौलाना रहमानी ने कहा कि ‘जब असम में एनआरसी किया जा रहा था, तब हमने शहर में रहने वाले मुस्लिमों से कहा था कि वो अपने पास जरुरी तरह के 23 कागजात रख लें और उसकी जांच कर लें कि उसमें स्पेलिंग की कोई गलतियां ना हों..यह काफी गंभीर बात है कि केंद्र सरकार अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के शिकार होकर आए मुस्लिमों से पहचान पत्र मांग रही है,,,लेकिन अगर उनके कागजातों में स्पेलिंग की गलतियां हुईं तो उन्हें नागरिकता नहीं दी जाएगी। असम में एनआरसी के दौरान Malegaon Municipal Corporation के बाहर कई चिंतित मुसलमानों की लंबी कतारें लग गईं।’

इधर इस मुद्दे पर मालेगांव सेंट्रल के विधायक मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल ने कहा कि ‘मालेगांव की आबादी का बड़ा हिस्सा पिछले 2 दशकों में उत्तर प्रदेश से पलायन कर यहां आया। तीन पीढ़ियों से जो लोग मालेगांव में रह गए वो अब यूपी जा रहे हैं और अपनी पहचान से जुड़ी कागजात तलाश रहे हैं…लोग सचमुच में काफी डरे हुए हैं।’ विधायक मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल ने कहा कि ‘अगर उनके आधार कार्ड में हुई स्पेलिंग की गलती को उन्हें सुधरवाना है तो स्थानीय विधायक से लेटर लेना पड़ता है। मेरे विधायक चुने जाने के बाद हजारों लोग मेरे कार्यालय पहुंचे थे यह पत्र हासिल करने के लिए।’

हालांकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मालेगांव इकाई के अध्यक्ष किशोर गायकवाड़ ने अल्पसंख्यकों में डर व्याप्त होने की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि ‘मौलवी, मुसलमानों के बीच प्रोपगैंडा फैला रहे हैं।’

Next Stories
1 विदेश मंत्री जयशंकर को अमेरिका की सांसद ने दिया जवाब- आलोचना सुनना ही नहीं चाहती भारत सरकार
2 बिहार बंद के दौरान पटना में 11 को गोली लगने की खबर, औरंगाबाद में पुलिस पर फेंके बम
3 जयशंकर ने रद्द की नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बोलने वाली अमेरिकी समिति से मुलाकात, भारत विरोधी बयान देने वाली सांसद की मौजूदगी वजह
ये पढ़ा क्या?
X