ताज़ा खबर
 

असम में नागरिकता कानून को लेकर विरोध के बीच ऑल असम स्टूडेंट यूनियन कर सकती है राजनीतिक दल की घोषणा

नाथ ने कहा, ‘‘हम शिल्पी समाज से बात कर रहे हैं और असम के लोगों से भी अन्य विकल्प पर विचार करने की चर्चा कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: December 15, 2019 7:46 PM
AASU अध्यक्ष दीपांका नाथ। (फोटो-सोशल मीडिया)

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू) ने ‘शिल्पी समाज’ (कलाकार फोरम) के साथ मिलकर राजनीतिक दल के गठन के रविवार को संकेत दिए। छात्र संघ ने सत्तारूढ़ भाजपा और असम गण परिषद के साथ ही विपक्षी कांग्रेस के विकल्प के तौर पर इस दल के गठन के संकेत दिए हैं।

यहां ‘शांति एवं सौहार्द कार्यक्रम’ नाम की विरोध बैठक को संबोधित करते हुए जब प्रसिद्ध गायक जुबीन गर्ग ने कहा कि, ‘‘हम अपनी खुद की पार्टी बनाएंगे’’, तब आसू अध्यक्ष दीपांका नाथ ने उनका यह कहते हुए समर्थन किया, ‘‘हम अब उस दिशा में सोच रहे हैं।’’ नाथ ने कहा, ‘‘हम शिल्पी समाज से बात कर रहे हैं और असम के लोगों से भी अन्य विकल्प पर विचार करने की चर्चा कर रहे हैं। आपकी (लोगों की) अनुमति से, हम उस दिशा में आगे बढ़ने में बिलकुल भी नहीं हिचकिचाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘आसू अराजनीतिक रहेगा। लेकिन, लोगों के हित में, शिल्पी समाज के साथ मिलकर हम उस दिशा में जाने के लिए तैयार हैं।’’ राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए आसू अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ उन्होंने लोगों का दमन करने के लिए अपने तंत्र को खुली छूट दे दी है जिसमें पांच नाबालिग छात्रों की मौत हो गई और कई अन्य को गोलियों से घायल कर दिया गया। यह साफ है कि सर्वानंद सोनोवाल सरकार गिर जाएगी।’’ आसू अध्यक्ष ने असम गण परिषद पर राज्य के लोगों के साथ ‘‘धोखा’’ करने का आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस भी ‘‘उतनी ही बुरी’’ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘असम अब नया कश्मीर बन गया है’, नागरिकता कानून पर हिंसा और उग्र प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया आरोप
2 नागरिकता कानून में संशोधन के खिलाफ दिल्ली में भड़का आक्रोश, प्रदर्शनकारियों ने फूंक दी तीन बसें
3 नागरिकता कानून के विरोध को लेकर दिल्ली में उग्र हुआ प्रदर्शन, जामिया नगर में तीन बसें फूंकी
ये पढ़ा क्‍या!
X