ताज़ा खबर
 

AAP से BJP में आए नेता ने कहा- CAA का समर्थन करने पर म‍िल रही जान की धमकी

आम आदमी पार्टी छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए नेता कपिल मिश्रा ने इस कानून का समर्थन किया है और दावा किया है कि उन्हें नागरिकता कानून का समर्थन करने पर जान से मारने की धमकी मिल रही है।

Amanatullah Khan, Kapil Mishra, Citizenship Amendment Bill, BJP, Congress, Hindus, Muslims, Minorities, Refugees, PM Modi, Amit Shahभाजपा ने रविवार को दक्षिणी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसा के लिए आम आदमी पार्टी (आप) को जिम्मेदार ठहराया।(फाइल फोटो)

citizenship amendment act: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन हिंसक हुए हैं और इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच तीखी झड़पें भी हुई हैं। इस कानून के विरोध में बड़ी मात्र में छात्र और समाज सेवक सड़कों पर उतार आए हैं और इस कानून के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रहे हैं। इसी बीच आम आदमी पार्टी छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए नेता कपिल मिश्रा ने इस कानून का समर्थन किया है और दावा किया है कि उन्हें नागरिकता कानून का समर्थन करने पर जान से मारने की धमकी मिल रही है।

कपिल ने ट्वीट कर लिखा “परसो 11 बजे फ़ोन पर मुझे जान से मारने की धमकी दी गयी। फ़ोन करके कहा गया कि सीएए के समर्थन में बोलना बंद करो वरना मार डालेंगे। कॉल +4044 और +5065 नम्बर्स से आया। हत्या की धमकियां फेसबुक मैसेंजर पर भी दी जा रही हैं। मैं नहीं डरता और सीएए के समर्थन में डंके की चोट पर बोलूंगा।” इस से पहले इस कानून का समर्थन करते हुए मिश्रा ने एक मार्च निकाला था। इस रैली में उनके समर्थकों ने आपत्तिजनक नारे लगाए थे जो नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों के खिलाफ था। ये लोग नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को देशद्रोही करार दे रहे थे।

कपिल मिश्रा द्वारा डाले गए वीडियो में वह ‘गोली मारो…’ नारा लगाते दिख रहे हैं। मिश्रा के इस आपत्तिजनक वीडियो की कई लोगों ने निंदा की और इसे भड़काऊ बताया। ऐसे ही एक ट्वीट के जवाब में मिश्रा ने कहा कि, “अमानतुल्ला के भाषण पर चुप। सिसोदिया के झूठ पर सन्नाटा। पेट्रोल बम लेकर घूम रही भीड़ पर मुंह बंद। ट्रैन, बस, स्टेशन, चौकियां जलाने वालों के बारे में आंखे बंद। खुलेआम मस्जिदों से चल रहे आंदोलन को सेकुलर बता रहे हैं। वो सब छोड़कर हमें हिंसक बता रहे हैं।”

बता दें इस कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में अब भी प्रदर्शन जारी है। सरकार ने कई इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है और धारा 144 लागू कर दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 झारखंड में हार के बाद राज्यसभा में भी बिगड़ सकता है भाजपा का गणित, जानिए क्या कहते हैं आंकड़े
2 Jharkhand Election Results 2019: 28 आदिवासी सीटों में से केवल दो जीत पाई बीजेपी
3 पूरे उत्तर भारत में शीत लहर डाल सकती है क्रिसमस और नए साल में बाधा, पाकिस्तान-अफगानिस्तान की ठंडी हवाओं से उत्तर भारत में बढ़ी सर्दी
ये पढ़ा क्या?
X