ताज़ा खबर
 

राजस्थान विशेष: शिक्षण संस्थान व धर्म स्थल खोलने को लेकर मंथन

प्रदेश में अगस्त माह में शिक्षण संस्थानों को शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। कोरोना से बचाव के लिए बच्चों को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी को लेकर ही फैसले लिए जाएंगे। अभिभावकों और विद्यालय प्रशासन को निर्देशों का का पालन करना होगा।

Author जयपुर | Published on: June 11, 2020 12:56 AM
jain temple, buddha temple, tourist places in rajasthanराजस्थान में धार्मिक स्थल को खोलने पर सरकार विचार कर रही है।

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच ही अब शिक्षण और धर्म स्थल खोलने को लेकर सरकार के स्तर पर कवायद भी शुरू हो गई है। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड भी अब अपनी बची हुई 10 और 12 वीं कक्षा की परीक्षाओं को लेकर तैयारी में जुट गया है। इस बीच प्रदेश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 11 हजार को पार कर गया। इस सबके बीच प्रदेश में ठीक होने वाले मरीजों की दर अब 74 फीसद को पार कर गई है। प्रदेश में ठीक होने वाले मरीजों की दर बेहतर होने से ही अब शिक्षण संस्थानों को नई गाइडलाइन से चलाने को लेकर शिक्षा विभाग तैयारी में जुट गया है। प्रदेश में इस महीने के अंत में दस दिन का जागरूकता अभियान चलेगा जिसमें बीमारी से बचाव के उपायों को अपनाने पर जोर दिया जाएगा।

मौजूदा कोविड19 के दौर में सबसे बुरा हाल पढ़ाई-लिखाई का हुआ है। देश भर में शिक्षण संस्थान बंद है और कई इलाकों में आनलाइन पढ़़ाई चल भी रही है। राजस्थान में आनलाइन शिक्षा प्रणाली कारगर नहीं हो सकती है। इसे ध्यान में रखते हुए और महामारी से बचाव से जुडे कदमों को उठाते हुए ही राज्य में स्कूल और कालेजों को खोलने को लेकर बैठकों के दौर जारी है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का कहना है कि प्रदेश में सभी स्कूलों को खोलने की तैयारी की जा रही है। इसकी तिथि तो अभी तय नहीं है पर केंद्र सरकार की गाइडलाइन के बाद प्रदेश के शिक्षाविदें और चिकित्सा विभाग के परामर्श के बाद फैसला किया जाएगा।

प्रदेश में अगस्त माह में शिक्षण संस्थानों को शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। कोरोना से बचाव के लिए बच्चों को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी को लेकर ही फैसले लिए जाएंगे। अभिभावकों और विद्यालय प्रशासन को निर्देशों का का पालन करना होगा। प्रदेश में फिलहाल आनलाइन शिक्षा दी जा रही है पर यह शहरी क्षेत्रों में ही असरकारी है। ग्रामीण इलाकों में तो विद्यालय में ही पढ़ाई हो सकती है।

केंद्र सरकार ने स्कूल खोलने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों पर छोड़ रखी है। राजस्थान प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष शशिभूषण शर्मा का कहना है कि प्रदेश में अभी कोरोना को लेकर डर का माहौल है। इसके चलते स्कूलों को खोलने को लेकर शिक्षक और अभिभावकों के बीच एकराय बनना जरूरी है। इस मामले में सरकार को सभी पक्षों की राय से ही फैसला लेना चाहिए।

शिक्षण संस्थानों की तरह ही धर्म स्थलों को लेकर राजस्थान में भी बड़े पैमाने पर विचार विमर्श का दौर जारी है। देश के कई राज्यों में धर्म स्थल खुल गए हैं पर राजस्थान में इन्हें अभी नहीं खोला गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यहां धर्मगुरुओं और धार्मिक स्थलों के प्रबंधकों के साथ बैठक कर इस मामले में आम सहमति बनाने का काम किया। धर्मगुरुओं का कहना है कि सरकार जब हालात सही समझे तभी धार्मिक स्थल खोले जाने चाहिए।

गहलोत का कहना था कि अभी खतरा टला नहीं है, इसलिए धर्मस्थलों को खोलने के संबंध में जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में एक समिति इस बारे में स्थानीय स्तर पर फैसला लें। राज्य में धर्म स्थलों को खोलने को लेकर अब जिला स्तर पर ही निर्णय होगा।

दूसरी तरफ चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा का कहना है कि राजस्थान में पॉजिटिव से नेगेटिव आने वाले मरीजों की स्वस्थ होने की दर अब 74 फीसद से ज्यादा हो गई है। देश के अन्य राज्यों के मुकाबले राजस्थान बेहतर स्थिति में है। प्रदेश के 11020 मरीजों में से 8182 ठीक हो गए हैं। इसके साथ ही राजस्थान परीक्षण के मामले में अब तीसरे स्थान पर है। तमिलनाडु और दिल्ली ही राजस्थान से टेस्टिंग के मामले में आगे हैं। प्रदेश में अब तक 5 लाख 18 हजार से ज्याद टेस्ट हो गए हैं। प्रदेश में पॉजिटिव केस बढ़ रहे हैं तो ठीक होने वालों की संख्या भी बढ़ रही है।

भारत सरकार ने भी राजस्थान में कोरोना से निपटने में सराहना की है। केंद्र सरकार ने 10 राज्यों के जो आंकड़े जारी किए हैं उसमें सभी में प्रदेश को अव्वल बताया गया है। प्रदेश में अब सिर्फ 24 फीसद ही सक्रिय मरीज हैं। ऐसे हालात में प्रदेश के ज्यादातर बड़े बाजार और सरकारी व निजी दफतरों में भी कामकाज ने गति पकड़ ली है। इसके साथ प्रदेश में 21 जून से 30 जून तक बीमारी से बचाव के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलेगा। इस दस दिवसीय अभियान में सभी गांवों और शहरों में महामारी से बचाव के लिए जागरूकता को लेकर कई आयोजन होंगे। इसमें आम आदमी को भागीदार बना कर प्रदेश को कोरोना से मुक्त करने का अभियान चलाया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महाराष्ट्र: 8 दिन से लापता 82 वर्षीय कोविड-19 मरीज का शव अस्पताल के टॉयलेट में मिला
2 भारत में रहकर अवैध पान मसाले का कारोबार कर रहा था पाकिस्तानी नागरिक, 8 करोड़ से ज्यादा की GST चोरी के सुराग
3 नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को ED का झटका, 1350 करोड़ के गहने जब्त कर हांगकांग से भारत लाए