ताज़ा खबर
 

छिना पद, पार्टी और मान! बोले चिराग- हनुमान को ऐसी हालत में देख कैसे चुप रह सकते हैं राम?

चिराग ने इंटरव्यू में कहा, "आज की तारीख में ये फैसला भाजपा को करना है कि जिसने आपका हर कदम पर साथ दिया, उसका साथ देना है या जिसने हर कदम पर आपकी नीतियों पर सवाल उठाए, उनका साथ देना है।"

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: June 25, 2021 1:39 PM
चिराग पासवान ने पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान कहा था कि वे पीएम मोदी के हनुमान हैं। (फाइल फोटो- एजेंसी)

लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) में चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति पारस के बीच पार्टी में अधिकार को लेकर जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। लोजपा में समर्थन छिनने के बाद अध्यक्ष पद से हटाए गए चिराग पासवान  जहां एक तरफ लगातार जदयू पर पार्टी को तोड़ने का आरोप लगा रहे हैं, वहीं बिहार में विपक्षी दलों का कहना है कि भाजपा अपना हित साधते हुए चिराग का ही साथ नहीं दे रही है। अब चिराग पासवान ने भी एक इंटरव्यू में इस पर खुलकर बयान दिया है। उन्होंने पीएम मोदी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि हनुमान जब अकेले हैं, तो राम को साथ आना चाहिए।

क्या बोले चिराग पासवान?: एबीपी न्यूज को दिए इंटरव्यू में जब चिराग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा- “मैं आज भी मानता हूं कि मैं आदरणीय प्रधानमंत्री जी पर विश्वास रखते हुए और बिना अपनी किसी विचारधारा से समझौता करते हुए मजबूती से उनके साथ खड़ा रहा। जैसे भगवान राम के लिए हनुमान माता सीता को ढूंढने गए। जरूरत पड़ी तो उनके लिए लंका तक जलाने का काम किया। मैंने प्रधानमंत्री जी के हर फैसले के साथ मजबूती से उनका साथ दिया।”

चिराग ने आगे कहा, “2014 में हमारा गठबंधन भाजपा के साथ हुआ था, नीतीश कुमार जी के साथ नहीं हुआ था। तब मेरे पास विकल्प था, मेरी पार्टी के वापस विकल्प था। क्योंकि नीतीश जी उस वक्त मोदीजी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी पर ही हाथ झटक कर अलग हुए थे। तो मैं चाहता तो तभी नीतीश जी के साथ जा सकता था। लेकिन हमने और पार्टी ने फैसला किया कि हम मोदीजी के साथ जाएंगे।”

मोदीजी के हर फैसले पर दिया साथ’: चिराग ने कहा, “हम लोगों ने मजबूती से अनुच्छेद 370 हो, ट्रिपल तलाक की बात हो, राम मंदिर निर्माण की बात हो, यहां तक कि सीएए-एनआरसी की भी बात हो, बिना अपनी विचारधारा से छेड़छाड़ किए, मैं भाजपा के साथ खड़ा रहा। पर नीतीश जी ने तो उसके खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव तक पारित किया।”

विश्वास है कि हनुमान की स्थिति पर खामोश नहीं होंगे राम: इस पर रुबिका लियाकत ने पूछा कि आज भाजपा जदूय के साथ है। तो चिराग ने कहा, “आज की तारीख में ये फैसला भाजपा को करना है कि जिसने आपका हर कदम पर साथ दिया, आपको उसका साथ देना है या जिसने हर कदम पर आपकी नीतियों पर सवाल उठाए, आपको उनका साथ देना है।”

जब रुबिका ने चिराग से पूछा कि अब आप क्लियर हो गए हैं कि राम आपका साथ नहीं देंगे? तो चिराग ने कहा कि मैं किसी को बाध्य नहीं कर सकता हूं किसी चीज के लिए। लेकिन मेरा विश्वास है, मेरी उम्मीद है कि हनुमान को ऐसी परिस्थिति में देखकर राम खामोश तो नहीं रहेंगे। ये मेरा विश्वास है। हालांकि, मेरी अब तक भाजपा से आधिकारिक स्तर पर किसी से बात नहीं हुई।

मोदी को राम, खुद को हनुमान बता चुके हैं चिराग पासवान: गौरतलब है कि पिछले साल बिहार में विधानसभा चुनाव के दौरान चिराग पासवान ने कहा था कि प्रचार अभियान के लिए मुझे प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर लगाने की जरूरत नहीं है। वह मेरे दिल में बसते हैं। मैं उनका हनुमान हूं, मेरा सीना चीर कर देख लें। मोदी के साथ था, हूं और रहूंगा। दरअसल, चिराग ने यह बात समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में कही थी।

Next Stories
1 गौतम अडानी के साथ इस कारोबार में पहली बार होगी मुकेश अंबानी की सीधी टक्कर, जानें
2 दिल्ली सरकार ने चार गुणा दिखाई ऑक्सीजन की जरूरत? बोली AAP- SC की कमेटी ने किसी रिपोर्ट पर नहीं किए साइन, BJP बोल रही झूठ
3 Reliance AGM: 10 लाख को नौकरी, नया ग्रीन एनर्जी कारोबार और 5G का जाल…जानें क्या है अंबानी का पूरा प्लान
ये पढ़ा क्या ?
X