रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को अलॉट हो चुके बंगले में राम विलास पासवान की मूर्ति: बोले चिराग- हटा लूंगा प्रतिमा

चिराग पासवान ने कहा है कि वह कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहते जिससे कानून का उल्लंघन हो। उन्होंने कहा कि रामविलास की प्रतिमा हटाकर कहीं और लगवा दी जाएगी।

दिल्ली के जनपथ 12 बंगले में लगी रामविलास पासवान की मूर्ति। फोटो- एक्सप्रेस By अनिल शर्मा

दिल्ली के बंगले में पिता रामविलास पासवान की मूर्ति लगाने के मामले में अब चिराग पासवान ने कहा है कि यह प्रतिमा केवल उनके प्रेम के प्रतीक के रूप में लगाई गई थी और वह इसे हटाकर कहीं और लगाने को तैयार हैं। शहरी विकास मंत्रालय ने यह बंगला अब रेल मंत्री अश्विनि वैष्णव को अलॉट कर दिया है बंगला खाली करने के लिए चिराग पासवान को नोटिस जारी किया गया था। बता दें कि इसी बंगले में लोक जनशक्ति पार्टी के मुखिया रामविलास पासवान करीब 32 साल तक रहे।

नोटिस जारी होने के बाद चिराग पासवान ने यह मामला वरिष्ठ अधिकारियों के सामने उठाया था जिसके बाद उन्हें कुछ दिनों तक वहां परिवार सहित रुकने की अनुमति मिल गई है। बंगले में मूर्ति लगाने के बाद यह भी कहा जा र हा था कि वह बंगला खाली करने को तैयार नहीं हैं। हालांकि अब उन्होंने इस बात को खारिज कर दिया है कि वह बंगला अपने नियंत्रण में रखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि उनके पिता रामविलास पासवान इस बंगले में लगभग 3 दशक तक रहे। इस वजह से प्रेमवश यह प्रतिमा लगाई गई थी लेकिन अब इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।

चिराग पासवान ने कहा कि पिता की प्रतिमा लगाना संपत्ति पर कब्जा करने का प्रयास नहीं है। इसे गलत तरीके से नहीं देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी ने देश में कई जगहों पर रामविलास पासवान की प्रतिमा लगाने की योजना बनाई है।

रामविलास की बरसी पर चिराग ने पीएम मोदी को भी दिया न्योता
चिराग पासवान 12 सितंबर को दिवंगत पिता की बरसी पर कार्यक्रम का आयोजन करने वाले हैं। इस मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी न्योता दिया है। बात दें कि इस समय चिराग और चाचा पशुपति पारस के बीच विरासत की लड़ाई चल रही है। वहीं पशुपति पारस को केंद्रीय कैबिनेट में भी जगह दी गई है। इस लिहाज से इस कार्यक्रम को अहम माना जा रहा है।

चाचा पशुपति पारस को भी न्योता देने चिराग पासवान उनके घर गए थे। चिराग ने बताया कि लालू प्रसाद यादव को भी उन्होंने निमंत्रण दिया है। बता दें कि पिछळे साल 8 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री रहे रामविलास पासवान का निधन हो गया था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट