ताज़ा खबर
 

सीमा विवाद को हल करने के लिए चीन को बैठना होगा हमारे साथ, भारत को कोई चेतावनी नहीं दे सकता: राजनाथ सिंह

मानेसर (हरियाणा)। अरुणाचल प्रदेश में सीमा सड़क बनाने की सरकार की योजना पर चीन की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया आने पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज उसे यह कहते हुए कड़ा संदेश दिया कि कोई भी भारत को चेतावनी नहीं दे सकता। उन्होंने एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा कि आज, कोई भी […]

Author Updated: October 16, 2014 4:47 PM

मानेसर (हरियाणा)। अरुणाचल प्रदेश में सीमा सड़क बनाने की सरकार की योजना पर चीन की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया आने पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज उसे यह कहते हुए कड़ा संदेश दिया कि कोई भी भारत को चेतावनी नहीं दे सकता। उन्होंने एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा कि आज, कोई भी भारत को चेतावनी नहीं दे सकता। हम बहुत ही मजबूत देश हैं।

सिंह से चीन के बुनियादी ढांचा विकास की बराबरी करने के लिए अरूणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले में माओ-थिंग्बू से तवांग तक मैकमोहन रेखा के समीप सड़क बनाने की योजना पर उसकी (चीन की) कड़ी प्रतिक्रिया के बारे में पूछा गया था। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता होंग ली ने बीजिंग में कहा था कि चीन-भारत सीमा के पूर्वी हिस्से के बारे में विवाद है। अंतिम निस्तारण होने से पहले हम आशा करते हैं कि भारत ऐसी कोई कार्रवाई नहीं करेगा, जिससे स्थिति और जटिल हो जाए। गृह मंत्री ने कहा कि भारत और चीन को सीमा विवाद सुलझाने के लिए मिल-बैठकर बात करनी चाहिए।

सरकार चीन-भारत सीमा के समीप खासकर अरुणाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए कई कदम उठा रही है। दोनों देशों के सीमा प्रहरी 11 सितंबर से करीब एक पखवाड़े तक लद्दाख के चुमार में एक दूसरे के सामने डटे रहे और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की तीन दिवसीय यात्रा इसी के साए में हुई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति के समक्ष दो बार यह मुद्दा उठाया। जब चीनी श्रमिक वास्तविक नियंत्रण रेखा पारकर भारतीय क्षेत्र में पांच किलोमीटर अंदर अपने उपकरण लेकर सड़क बनाने पहुंच गए, तब तनाव पैदा हो गया था। दोनों सेनाओं के बीच कई दौर की बातचीत के बाद गतिरोध समाप्त हुआ। गृह मंत्री ने चीन से लगती 3488 किलोमीटर लंबी सीमा की वर्तमान स्थिति और भविष्य में अतिक्रमण रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों की मंगलवार को समीक्षा की थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘इंस्पेक्टर राज’ खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री ने श्रम सुधार कार्यक्रम किया पेश
2 इसरो ने IRNSS 1C को सफलतापूर्वक किया प्रक्षेपित
3 मुख्यमंत्री पद के लिए महाराष्ट्र भाजपा में अभी से शुरू हो गई खींचतान
ये पढ़ा क्या?
X