ताज़ा खबर
 

1962 की तरकीब फिर आजमा रहा चीन, LAC पर लाउडस्पीकर से बजा रहा पंजाबी गाने; जानें क्या है वजह

भारतीय सेना के 29-30 अगस्त के पैंगोंग के दक्षिणी किनारे से लेकर रेजांग ला के करीब रेकिन ला तक के ऑपरेशन से चीनी सेना काफी भड़की हुई है और आक्रामकता दिखाने के लिए नई-नई तरकीबें आजमा रही है।

india, China, Galwan Valley, Face offLAC पर भारत और चीन के सैनिक पिछले तीन-चार महीने में कई बार आमने-सामने आ चुके हैं। (फाइल फोटो)

भारत और चीन के बीच लद्दाख स्थित एलएसी पर टकराव लगातार बढ़ता जा रहा है। चीनी सेना ने भारत के खिलाफ लगातार आक्रामक रवैया अख्तियार किया हुआ है, हालांकि भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई की वजह से उसे अब तक कोई खास सफलता नहीं मिली है। इस बीच खबर है कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) अब भारतीयों के खिलाफ पंजाबी गानों को हथियार बनाना चाहती है। इसके लिए उसने पैंगोंग सो के फिंगर एरिया पर लाउडस्पीकर भी लगा दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, चीन की यह हरकत मुख्यतः भारतीय सैनिकों का ध्यान भटकाने के लिए है। दरअसल, चीन की ओर से फिंगर इलाके पर कब्जा करने के बाद भारतीय सेना लगातार उसकी गतिविधियों पर करीब से नजर रख रही है। ऐसे में संभव है कि चीन उनकी एकाग्रता भंग करने और उन पर से दबाव हटाने के लिए इस तरह की तरकीबें आजमा रहा है, ताकि वह क्षेत्र के घेराव के मंसूबों में कामयाब हो जाए। हालांकि, भारतीय सेना ने उन पोस्ट्स पर निगरानी बढ़ा दी है, जहां चीनियों ने लाउडस्पीकर लगाए हैं।

भारतीय नेताओं के भाषण भी चला रही चीनी सेना: चीनी सेना लाउडस्पीकर के जरिए सिर्फ पंजाबी गाने ही नहीं, बल्कि नेताओं के भाषण भी चला रही है, जिसमें हिंदी में ही उन्हें पूरे सर्दी के मौसम में तैनात रहने की बातें बताई जा रही हैं। माना जा रहा है कि चीन इसके जरिए भारतीय टुकड़ियों की हिम्मत को तोड़ना चाहता है और गरम खाने और अच्छी तरह रहने का मुद्दा उठाकर सैनिकों में ही फूट डालने की कोशिश कर रहा है।

1962 में भी ऐसी तरकीब आजमा चुका है चीन: भारत के एक पूर्व सेना प्रमुख ने बताया कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी 1962 के युद्ध से पहले भी पश्चिमी और पूर्वी सेक्टर में भी यह तरकीबें आजमा चुकी है। इसके अलावा 1967 के नाथू ला टकराव में भी चीन ने ऐसी ही कोशिशें की थीं। पर इस बार पैंगोंग में तैनात सेनाएं पहले से ही दृढ़ निश्चय हैं।

भारतीय सेना की 29-30 अगस्त की कार्रवाई की काट ढूंढ रहा चीन: बता दें कि भारतीय सेना के 29-30 अगस्त के पैंगोंग के दक्षिणी किनारे से लेकर रेजांग ला के करीब रेकिन ला तक के ऑपरेशन से चीनी सेना काफी भड़की हुई है। ऐसे में वह लगातार भारत को पीछे हटाने के लिए नई-नई कोशिशें कर रही है। पहले उसने इन जगहों पर हथियार और टैंक लाकर भारत को भड़काने की कोशिश की, पर भारतीय सेना की ओर से मजबूती दिखाने के बाद उसे कोई खास फायदा नहीं मिल रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली दंगाः ‘दाहिनी जेब में देसी कट्टा था’ दिल्ली पुलिस 5 अलग-अलग एफआईआर में लिखी एक ही बात; विधानसभा समिति ने उठाए सवाल
2 LAC पर अपनी ही जमीन पर 15 साल से नहीं जा सका है भारत, चीन के जमावड़े से और बढ़ा तनाव
3 चीनी डेटा कंपनी निगरानी मामले में केंद्र ने गठित की जांच समिति, विदेश मंत्रालय चीन के समक्ष उठाया मुद्दा
ये पढ़ा क्या?
X