चीन की गुस्ताख़ी! अरुणाचल प्रदेश में घुस आए 200 चीनी सैनिक, आतंकियों के सफाए से पाकिस्तान भी बौखलाया

चीन की उकसाने वाली रणनीति के अलावा दूसरी तरफ पाकिस्तान भारतीय सेना की आतंकियों पर कार्रवाई से बौखलाया हुआ है।

Indian Army,LOC, China
प्रतीकात्मक तस्वीर(फाइल/फोटो सोर्स: PTI)

चीन अपने नापाक इरादों को अंजाम देने के लिए लगातार भारत को उकसाता रहता है। सीमा विवाद को लेकर चीन अक्सर भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश करता लेकिन उसे मुंह की खानी पड़ती है। इस बीच अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर चीन के लगभग 200 सैनिकों ने पिछले हफ्ते तिब्बत के रास्ते भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश की। खबरों के मुताबिक दोनों सेनाओं में कुछ घंटे झड़प भी हुई थी।

सूत्रों का कहना है कि, चीनी सैनिक पिछले हफ्ते LAC क्रॉस कर भारत की तरफ आ गए थे। रक्षा सूत्रों का कहना है कि, दोनों पक्षों के बीच इंगेजमेंट कुछ घंटों तक चली और इसे मौजूदा प्रोटोकॉल के तहत सुलझा लिया गया। इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ।

वहीं उच्च पदस्थ सरकारी सूत्रों के अनुसार अरुणाचल प्रदेश के तवांग में चीन के कुछ सैनिकों को भारतीय सैनिकों द्वारा अस्थायी रूप से हिरासत में लिया गया था। ये सैनिक लगभग 200 की संख्या में तिब्बत के जरिए भारतीय सीमा में दाखिल हो गए थे और उन्होंने खाली बंकरों को नुकसान पहुंचाने का प्रयास किया। फिलहाल चीनी सैनिकों को हिरासत में लिए जाने की खबरों का सेना की तरफ से खंडन किया गया है।

इस झड़प को लेकर सेना के सूत्रों ने कहा है कि, लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन और भारत अपने परसेप्शन हैं। ऐसे में दोनों देशों की पेट्रोलिंग टीम का कभी-कभी आमना-सामना हो जाता है। हालांकि फेसऑफ की सिचुएशन में तय प्रोटोकॉल के हिसाब से मामले को निपटाया जाता है।

पाकिस्तान भी बौखलाया हुआ है: चीन की उकसाने वाली रणनीति के अलावा दूसरी तरफ पाकिस्तान भारतीय सेना की आंतकियों पर कार्रवाई से बौखलाया हुआ है। बता दें कि, कश्मीर जोन के आईजी विजय कुमार ने बताया कि बड़ी संख्या में आतंकवादियों के मारे जाने से आतंकियों के आका निराश हैं, बौखलाए हुए हैं। उन्होंने जानकारी दी कि, इस साल आतंकवादियों ने कश्मीर में 28 नागरिकों की हत्या की है। इसमें स्थानीय हिंदू, सिख और दो गैर-स्थानीय हिंदू मजदूरों की मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि सेना के बड़े एक्शन से बौखलाए आतंकियों ने अपनी रणनीति बदली है। अब वो महिलाओं सहित अल्पसंख्यक समुदायों के निहत्थे पुलिसकर्मियों, राजनेताओं, नागरिकों को भी निशाना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि, आतंकी पिस्टल के जरिए लोगों की हत्या कर रहे हैं। इसमें नए भर्ती किए गए आतंकवादियों का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे हमलावरों की हम ट्रैकिंग कर रहे हैं, इनका सफाया जल्द होगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट