ताज़ा खबर
 

लद्दाख के पेंगोंग झील तक सड़क परियोजना से बौखलाया चीन, बोला- और बढ़ेगा डोकलाम विवाद

गृह मंत्रालय ने कथित तौर पर लद्दाख के मर्सिमिक ला से हॉट स्प्रिंग तक एक सड़क निर्माण परियोजना को मंजूरी दी है। लद्दाख में मार्सिमिक ला पैंगांग झील के उत्‍तर-पश्चिमी सिरे से 20 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है।

लद्दाख स्थित पेनगांग झील का मनोरम दृश्य। इसी झील के पास चीनी सेनाओं ने घुसपैठ की कोशिश की थी। (फोटो-AP)

लद्दाख सेक्टर में पेंगोंग झील के निकट सड़क बनाने की भारत सरकार की परियोजना से चीन तिलमिला उठा है। गुरुवार (24 अगस्त) को चीन ने अपने बयान में कहा है कि भारत ने ऐसा कर अपने ही मुंह पर थप्पड़ मारा है। इसके साथ ही चीन ने धमकी भी दी है कि अब डोकलाम विवाद और बढ़ेगा। चीन ने कहा कि लद्दाख सेक्टर के पेंगोंग झील तक सड़क निर्माण की मंजूरी देकर भारत ने खुद अपने मुंह पर थप्पड़ मारा है क्योंकि जहां सड़क बनाने की योजना है वहां अभी तक सीमा का निर्धारण नहीं हुआ है।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने भारत की इस सड़क परियोजना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारत की कार्रवाई से यह जाहिर होता है कि वो कहता कुछ है और करता कुछ और है। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि सीमा से जुड़े मुद्दों पर भारतीय कार्रवाई में विरोधाभास दिखता है। उन्होंने कहा कि लद्दाख जैसे विवादित क्षेत्र में सड़क निर्माण से इलाके में शांति और सद्भाव बिगड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत के इस कदम से मौजूदा गतिरोध कम नहीं होगा बल्कि डोकलाम विवाद और बढ़ेगा।

बता दें कि गृह मंत्रालय ने कथित तौर पर लद्दाख के मर्सिमिक ला से हॉट स्प्रिंग तक एक सड़क निर्माण परियोजना को मंजूरी दी है। लद्दाख में मार्सिमिक ला पैंगांग झील के उत्‍तर-पश्चिमी सिरे से 20 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है। गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि हाल ही में चीनी और भारतीय जवानों के बीच इसी इलाके में पत्‍थरबाजी और हाथापाई होने की खबरें आई थीं। चीनी सैनिकों के पल-पल की गतिविधि पर पैनी नजर रखी जा सके, इसीलिए भारत सरकार ने यहां सड़क निर्माण की योजना को मंजूरी दी है।

इधर, चीन ने भारत में रह रहे अपने नागरिकों के लिए एक और एडवाइजरी जारी की है। लेकिन इस बार चीन द्वारा जारी एडवाइजरी में उसकी हताशा झलकती है। डोकलाम  विवाद पर भारत को कई बार धमकी दे चुका चीन ने इस बार अपने नागरिकों को आगाह किया है कि वे भारत में बीमारियों, प्राकृतिक आपदाओं और सड़क हादसों से बचकर रहें। 24 अगस्त गुरुवार को जारी इस एडवाइजरी में चीन ने अपने नागरिकों को कई किस्म की सुरक्षा चुनौतियों से सावधान रहने को कहा है।

Next Stories
1 निजता का अधिकार: SC के फैसले का सोनिया गांधी ने किया स्वागत, कहा- ये है नए युग का संकेत
2 बाबा राम रहीम के श‍िष्‍यों में शुमार हैं विराट कोहली, यूसुफ पठान, विजेंदर सिंह, मनीषा कोईराला
3 खुद के इस्‍तीफे की अटकलों के बीच सुरेश प्रभु ने जताया नरेंद्र मोदी का आभार, किया ये ट्वीट
यह पढ़ा क्या?
X