ताज़ा खबर
 

चीन जानता है, भारत अब कमजोर नहीं रहा: राजनाथ

भारत को तोड़ने की कोशिश कर रहा है लेकिन हमारे सुरक्षाबल रोज पांच या दस आतंकवादियों को ढेर कर रहे हैं।

Author लखनऊ | October 16, 2017 1:55 AM
गृहमंत्री राजनाथ सिंह। (फोटो- पीटीआई)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं और पड़ोसी मुल्क चीन भी समझने लगा है कि भारत अब कमजोर नहीं रहा।
राजनाथ सिंह ने यहां भारतीय लोधी महासभा के एक कार्यक्रम में डोकलाम विवाद का उल्लेख करते हुए कहा कि चीन से जुडेÞ विवाद सुलझा लिए गए हैं। उन्होंने कहा, भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं और चीन भी समझने लगा है कि भारत अब कमजोर नहीं रहा। ताकत बढ़ी है। उन्होंने कहा, जब से केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी, भारत दुनिया का ताकतवर देश बन गया है। अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है। सिंह ने कहा, ‘पाकिस्तान भारत में आतंकवादी भेजता है। वह भारत को तोड़ने की कोशिश कर रहा है लेकिन हमारे सुरक्षाबल रोज पांच या दस आतंकवादियों को ढेर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जातीय संगठनों के कार्यक्रमों में शामिल होना वोट बैंक की राजनीति नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘हम राजनीति केवल वोट के लिए नहीं करते, समाज और देश बनाने के लिए करते हैं।’ सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के तुरंत बाद कहा था कि हमारी सरकार हिंदुस्तान के गरीबों के लिए समर्पित है। इस कड़ी में उन्होंने जनधन योजना, उज्जवला योजना सहित सरकार की ओर से शुरू की गई विभिन्न योजनाओं का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को जन आंदोलन बनाने का काम भाजपा सरकार ने किया। सिंह ने अति पिछड़ा वर्ग के आरक्षण की चर्चा करते हुए कहा कि पिछड़ा वर्ग आयोग बना लेकिन उसे पंगु बनाकर रखा गया। हम आयोग को संवैधानिक रूप देंगे। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस सरकार और उसके मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे लेकिन हम सीना ठोककर कह सकते हैं कि पिछले साढ़े तीन वर्ष में हमारे ऊपर कोई उंगली नहीं उठा सकता। किसी पर भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा।’ गृहमंत्री ने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने 2022 तक भारत को गरीबी से मुक्ति दिलाने का लक्ष्य रखा है। हम उसे निश्चित समय पर पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने बैंको तक गरीबों की पहुंच आसान की है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App