ताज़ा खबर
 

8 साल के बच्चे पर पलटा बालू से भरा ट्रक, 3 घंटे की मशक्कत के बाद निकल पाई लाश

जानकारी के मुताबिक जब ट्रक बस्ती में जा रहा था। इसी दौरान दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला आठ साल का आर्यन पास की दुकान में पेंसिल खरीदने जा रहा था। तभी ट्रक असंतुलित होकर उसके ऊपर पलट गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

उत्तर प्रदेश में फतेहपुर शहर के लखनऊ बाईपास में बस्ती के अंदर एक बालू भरा ट्रक बच्चे पर पलट गया। ट्रक के नीचे दबने से बच्चे की मौत हो गई। यह दर्दनाक घटना सोमवार (27 जनवरी) को हुई। बच्चे की उम्र आठ वर्ष बताई जा रही है। फतेहपुर सिटी कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रवींद्र श्रीवास्तव ने इस मामले की जानकारी दी है। यह ट्रक बस्ती के अंदर बालू खाली करने जा रहा था।

तीन घंटे की कोशिश के बाद निकला शवः प्राप्त जानकारी के मुताबिक जब ट्रक बस्ती में जा रहा था। इसी दौरान दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला आठ साल का आर्यन पास की दुकान में पेंसिल खरीदने जा रहा था। तभी ट्रक असंतुलित होकर उसके ऊपर पलट गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि करीब तीन घंटे के प्रयास के बाद क्रेन मशीन से ट्रक को हटाकर बच्चे का शव बाहर निकाला जा सका और उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया।

Hindi News Live Hindi Samachar 28 January 2020: देश-दुनिया की तमाम खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

फरार हुआ ट्रक चालक, केस दर्जः एसएचओ ने बताया कि इस संबंध में बच्चे के पिता जयकरन साहू की तहरीर पर ट्रक चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। ट्रक को कब्जे में लेकर फरार ट्रक चालक की तलाश की जा रही है।

छत्तीसगढ़ में भी हुआ था ऐसा हादसाः गौरतलब है कि पिछले महीने छत्तीसगढ़ में भी ऐसे ही एक हादसे में 5 बच्चों की जान चली गई थी। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में हुए एक हादसे में सड़क खराब होने की वजह से ट्रैक्टर ट्रॉली पलट गई थी। इस दौरान वहां बकरियां चरा रहे कुछ बच्चे उसकी चपेट में आ गए। इस हादसे में बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई थी।

Next Stories
1 ‘देश के बेरोजगारों को, काम दो सारों को’, अनुराग ठाकुर के बयान पर कांग्रेस ने यूं किया पलटवार
2 ‘I love Kejriwal’ के स्टीकर को लेकर कट गया 10 हजार का चालान, HC ने दिल्ली पुलिस से कहा- नियम बताओ
3 AMU में आरक्षण के मुद्दे पर मोदी सरकार फिर कर सकती हैं विचार, संसदीय समिति की तरफ से मिली हरी झंडी
ये पढ़ा क्या?
X