ताज़ा खबर
 

प्‍लैटफॉर्म पर मृत पड़ी मां के ‘कफन’ से खेलते मासूम का वीडियो वायरल, तेजस्‍वी यादव ने किया 5 लाख रुपए देने का ऐलान

मुजफ्फरपुर की इस घटना के बारे मेें बिहार सरकार का कहना है कि महिला के परिवार वालों ने पहले से उसके बीमार होने की पुष्‍टि की है। इसलिए मौत का कारण भूख-प्‍यास बताया जाना गलत है।

Corona Virus: वायरल हो रहे इस वीडियो पर राजनीति शुरू हो गई है।

बिहार के मुजफ्फरपुर रेलवे स्‍टेशन में प्‍लैटफॉर्म पर एक महिला मृत पड़ी है। उसके ऊपर पड़ी चादर से उसका मासूम बच्‍चा खेल रहा है। इस बात से बेखबर कि यह चादर उसकी मां का कफन बन चुकी है और मां हमेशा के लिए सो गई हैं। बच्‍चे की उम्र दो साल के करीब लगती है। उसके पास ही उम्र में उससे थोड़ा बड़ा एक और बच्‍चा दिखाई दे रहा है।

उसकी भी उम्र इतनी नहीं कि वह अपने ऊपर से मां का साया उठ जाने का दर्द समझ सके। इस दारुण दृश्‍य वाला वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। बताया जाता है कि यह महिला श्रमिक ट्रेन की मुसाफिर थी। चार दिन भूखे-प्‍यासे रहने की वजह से मौत का शिकार हो गई।

इस वीडियो पर राजनीति भी होने लगी। विपक्षी नेताओं ने इसे शेयर कर जम कर सरकार पर निशाना साधा। बिहार के उप मुख्‍यमंत्री रहे तेजस्‍वी यादव के राजनीतिक सलाहकार Sanjay Yadav@sanjuydv ने ने वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया- छोटे बच्चे को नहीं मालूम कि जिस चादर के साथ वह खेल रहा है वह हमेशा के लिए मौत की गहरी नींद सो चुकी माँ का कफ़न है। 4 दिन ट्रेन में भूखे-प्यासे रहने के कारण इस माँ की मौत हो गयी। ट्रेनों में हुई इन मौतों का ज़िम्मेवार कौन? विपक्ष से कड़े सवाल पूछे जाने चाहिए कि नहीं??   

इस पर Tejashwi Yadav @yadavtejashwi ने ऐलान किया- मृत महिला अरबिना ख़ातून के पति दो साल पहले उन्हें छोड़ के जा चुके है। तत्काल दोनों बच्चों के लिए हम 5 लाख की आर्थिक मदद कर रहे है ताकि वयस्क होने तक उनके नाम FD रहे। उनकी पढ़ाई का ज़िम्मा और साथ ही देखभाल करने वाले नज़दीकी पारिवारिक सदस्य को गृह ज़िला कटिहार में ही नौकरी देंगे।

इस पर @bihari_larka ने @yadavtejashwi को सलाह दी- नजदीकी पारिवारिक सदस्य पर निगरानी रखने की जिम्मेवारी भी आपको अपने किसी स्थानीय नेता को देनी चाहिए नहीं तो ऐसा भी हो सकता है नौकरी भी लेकर कुछ दिन बाद इन बच्चो को अनाथ छोड़ दे।अभी समाज मे यही हो रहा है।

मौत के कारण पर विवाद: सरकार ने महिला की मौत का कारण भूख-प्‍यास बताए जाने को गलत करार दिया है। पीआईबी का कहना है कि महिला के पहले से ही बीमार होने की पुष्‍टि उसके परिवार ने की है। ‘आज तक’ ने मृतक महिला के जीजा के हवाले से लिखा, ‘अचानक से मेरी साली की ट्रेन में मौत हो गई। ट्रेन में हम लोगों को खाने और पीने की कोई भी दिक्कत नहीं हुई।’ आज तक केे मुताबिक घटना 25 मई की है। कटिहार की रहने वाली महिला अहमदाबाद से श्रमिक ट्रेन में चली थीं। रास्‍ते में ट्रेन में ही उनकी मौत हो गई। मुजफ्फरपुर में उनका शव उतारकर पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजा गया।

‘एनडीटीवी’ की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘महिला के परिवारवालों ने बताया कि ट्रेन में खाने-पीने को कुछ न मिलने पर महिला की तबियत खराब हो गई थी। उसने शनिवार को गुजरात से ट्रेन ली थी और सोमवार को मुजफ्फरपुर में ट्रेन के पहुंचने के थोड़ी देर बाद ही उसकी मौत हो गई।’

Intrepid Saffron @IntrepidSaffron ने भी ट्वीट किया- काफी दर्दनाक,भगवान ऐसे दिन किसी को ना दिखाए, लेकिन जो बात ज्यादा दुखदाई है कि कैसे एनडीटीवी और तमाम नेता इस मौत पर अपनी राजनीतिक रोटी सेंक रहे हैं। उस मां की मृत्यु भूख से नहीं हुई बल्कि उनकी पहले से तबीयत खराब थी। हर चीज में सरकार को दोष देना Face with rolling eyes. यह ट्वीट एनडीटीवी पर छपी इस बारे में खबर पर टिप्‍पणी करते हुुुए की।

Md Amirul Amin @amirul02 ने सरकार पर तंज कसते हुए लिखा- साहब मुझे भूक लगी है रोटी चाहिए, अरे तुम्हें रोटी की पड़ी है वो देखो पाकिस्तान चीन ओर नेपाल हमसे कितना डरा हुआ है। आत्‍मनिर्भर।

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस

Shakshi Sharma @ShakshiSharm ने लिखा- रेलवे स्टेशन पर मृत माँ को जगाने की कोशिश कर रहे बच्चे की तस्वीर ह्रदयविदारक है। कोरोना की इस महामारी में सरकार की नाकामी की वजह से इस तरह की कई अनसुनी अनदेखी दुखभरी घटनाएं हुई जो कभी किसी को पता भी नही लगेंगी।

N.K.Singh @Golusin46462390 ने ट्वीट किया- कहां मर गाया वो जो अच्छा दिन बोल रहा था। @awesh29 ने लिखा- चादर से खेल रहे इस बच्चे को नही पता कि इसकी मां रेलवे स्टेशन पर ही भूख प्यास से दम तोड़ चुकी है। इस देश मे गरीब मां की यही नियत है। भारत माता की जय, घर घर मोदी, हर हर मोदी, भारतीय रेलवे सदा हमारे साथ, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी अमर रहें।@YashwantGome ने कमेंट किया- जिस देश का युवा और राजनीति में विपक्ष सोया हुआ है उस देश का पतन निश्‍चित है।

Next Stories
1 Lockdown: किसान ने अपनी जेब से चुकाए 70 हजार, 10 मजदूरों को फ्लाइट से घर भेजने का किया इंतजाम
2 India-China Border Tension: चीन के साथ तनातनी पर बोले केंद्रीय मंत्री बोले- नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता
3 India China Border Tension: भारत-चीन सीमा विवाद पर डॉनल्ड ट्रंप बोले- दोनों देशों के बीच मध्यस्थता को तैयार
ये पढ़ा क्या?
X