Chief Coach of Indian Mens Hockey Team Harendra Singh wrote a letter to hockey India abour Bad food quality - पुरुष हॉकी टीम कोच का आरोप- नैशनल कैंप में खाने में मीट नहीं, परोसा जा रहे कीड़े-मकौड़े और बाल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पुरुष हॉकी टीम कोच का आरोप- नैशनल कैंप में खाने में मीट नहीं, परोसा जा रहे कीड़े-मकौड़े और बाल

खिलाड़ियों को अक्सर उनके खराब प्रदर्शन पर मीडिया और दर्शक दोनों ही कोसते हैं। लेकिन भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी क्या सह रहे हैं, ये दर्द उनके कोच के लिखे पत्र से बखूबी बयान हुआ है। हॉकी की नेशनल टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने हॉकी इंडिया को खिलाड़ियों को घटिया खाना परोसे जाने का मसला पत्र लिखकर उठाया है।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के मुख्‍य कोच हरेंद्र सिंह। फोटो- Facebook/Indian Hockey Family

भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी की दुर्दशा किसी से भी छिपी नहीं है। इसके कई कारण हो सकते हैं। लेकिन खिलाड़ियों को अक्सर उनके खराब प्रदर्शन पर मीडिया और दर्शक दोनों ही कोसते हैं। लेकिन भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी क्या सह रहे हैं, ये दर्द उनके कोच के लिखे पत्र से बखूबी बयान हुआ है। हॉकी की नेशनल टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने हॉकी इंडिया को खिलाड़ियों को घटिया खाना परोसे जाने का मसला पत्र लिखकर उठाया है। इस पत्र ने खेल मंत्रालय के वर्ल्ड क्लास की सुविधाएं खिलाड़ियों को देने के दावे को हवा-हवाई साबित कर दिया है।

दरअसल, भारत की हॉकी टीम एशियन खेलों और विश्व कप की तैयारी कर रही है। टीम इन दिनों बेंगलुरु के साई सेंटर में पसीना बहा रही है। टीम इंडिया के कोच हरेंद्र सिंह ने हॉकी इंडिया को पत्र लिखा है। कोच हरेंद्र सिंह ने आला अधिकारियों को लिखे पत्र में कहा,’मैं आपकी जानकारी में लाना चाहूंगा कि बेंगलुरु में साइ सेंटर में खाना बहुत ही खराब मिल रहा है जिसमें जरूरत से ज्यादा तेल और फैट है। हड्डियों में मीट नहीं है। खाने में कीड़े, मकोड़े और बाल निकल रहे हैं। मैं आपको बताना चाहता हूं कि यहां साफ सफाई का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है।”

कोच हरेंद्र सिंह की शिकायत के बाद भारतीय ओलंपिक संघ यानी आईओए के अध्यक्ष और हॉकी इंडिया के पूर्व अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने खेल मंत्रालय को पत्र लिखा है। बत्रा ने लिखा,”किचन में जो बर्तन इस्तेमाल हो रहे हैं, वे भी ठीक नहीं हैं। हम चैंपियंस ट्रॉफी, एशियाई खेल और विश्व कप की तैयारी कर रहे हैं। इनके लिये खिलाड़ियों को ऐसी खुराक चाहिए जिसमें सारे पोषक तत्व हों। हमने 48 खिलाड़ियों के खून की जांच कराई है और कुछ खिलाड़ियों के खून में नमूने में खान पान संबंधी कमी पाई गई है, जिससे वे इस स्तर पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं।”

हरेंद्र ने आगे लिखा है,”कॉमनवेल्थ खेलों से पहले एक कैंप में माननीय खेलमंत्री आये थे और उन्होंने अधिकारियों को 48 घंटे के भीतर इन समस्याओं के निराकरण के लिये कहा था लेकिन ऐसा ये आज तक नहीं हो सका।” आईओए ने हाकी इंडिया से सूचना मिलने के बाद साइ को इस मामले को देखने के लिये कहा है। आईओए अध्यक्ष बत्रा ने साइ की महानिदेशक नीलम कपूर को पत्र लिखकर मामले को गंभीरता से लेने के लिये कहा है। बता दें कि भारतीय टीम नेदरलैंड्स के ब्रेडा में 23 जून से एक जुलाई के बीच चैंपियंस ट्राफी खेलने वाली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App