ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़ः रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में जहां-तहां पड़ी हैं कोरोना मरीज़ों की लाशें, सीएमओ बोलीं- फ्रीजर का इंतजाम मुश्किल

रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में मानो लाशों का ढेर लग गया है। क्या स्ट्रेचर, क्या फर्श और क्या अस्पताल का परिसर जहां देखो वहां कोरोना से मरने वालों की लाशें ही नजर आती हैं।

hospitalतस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Pixabay)।

रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में मानो लाशों का ढेर लग गया है। क्या स्ट्रेचर, क्या फर्श और क्या अस्पताल का परिसर जहां देखो वहां कोरोना से मरने वालों की लाशें ही नजर आती हैं। ये हालात देश में COVID-19 की दूसरी लहर की हकीकत को बयान करते हैं और बताते हैं कि देश की स्वास्थ्य व्यवस्था धराशायी हो चुकी है। रायपुर के डॉ भीम राव अम्बेडकर मेमोरियल अस्पताल में शवों को रखने के लिए जगह कम पड़ गई है। फ्रीजर में रखना तो दूर फिलहाल अस्पताल में जहां जगह दिख रही है वहीं लाश रख दी जा रही है।

अस्पताल के अधिकारियों ने लाचारी जताते हुए कहा कि COVID-19 से मरने वाले मरीजों के शव अंतिम संस्कार के लिए तेजी से मोर्चरी में जमा किए जा रहे हैं। अस्पताल में आईसीयू और ऑक्सीजन वाले बेड पिछले एक हफ्ते से भरे हुए हैं। रायपुर की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी मीरा बघेल ने कहा, “कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता था कि एक ही बार में इतनी सारी मौतें होंगी। हम यह नहीं समझ पा रहे हैं कि एक से दो मौतों वाली जगहों पर 10-20 मौतों की रिपोर्ट कैसे सामने आ रही है? हम एक साथ इतने लोगों के लिए फ्रीजर की व्यवस्था कैसे कर सकते हैं?’

अधिकारी ने कहा, “हम एक तरह से कोविड के खिलाफ जंग जीत चुके थे। होम आइसोलेशन जैसे उपाय कारगर थे। लेकिन हम अभी तक इस नई लहर को समझ नहीं पा रहे हैं। हम ऐसे मामलों को देख रहे हैं जहां जिन रोगियों में लक्षण भी नहीं हैं उनकी तबियत भी तेजी से बिगड़ रही है और वे दिल के दौरे से मर रहे हैं।”

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, रायपुर शहर में हर दिन औसतन 55 शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है और उनमें से ज्यादातर कोरोनोवायरस मरीज हैं।

भारत में कोरोनोवायरस की इस भयंकर दूसरी लहर से जिन 10 राज्यों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है उनमें छत्तीसगढ़ शामिल है। छत्तीसगढ़ में नए COVID-19 मामलों ने कोरोना के कुल मामलों को राज्य में 4,43,297 पर पहुंचा दिया है। जबकि 122 मौतों ने मरने वालों की संख्या को 4,899 कर दिया है।

सबसे अधिक प्रभावित रायपुर और दुर्ग जिले हैं जहां लॉकडाउन लगा हुआ है। यहां क्रमश: कोरोना के 2,833 और 1,650 नए मामले दर्ज किए गए। रायपुर में कुल मामले 91,311 तक पहुंच चुके हैं, जिसमें 1,203 मौतें शामिल हैं।

दुर्ग में कोरोना के मामले 939 मौत सहित 55,395 हो गए हैं। राजनांदगांव में 759 मामले, बिलासपुर में 624 और कोरबा में 455 रिपोर्ट किए गए हैं।

Next Stories
1 एक अकेली ममता बनर्जी बीजेपी से लड़ रही हैं तो उन पर बैन लगवाओ, हमला करवाओ…कांग्रेसी आचार्य ने लिया तृणमूल नेता का पक्ष
2 प. बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी पर आयोग का बैन, तृणमूल के डेरेक ओ’ब्रायन बोले- EC मतलब Extremely Compromised
3 राफेल डील में दस लाख यूरो की दलाली! जाते-जाते पीआईएल पर तारीख दे गए सीजेआई एसए बोबडे
यह पढ़ा क्या?
X