ताज़ा खबर
 

लाचार पत्‍नी के लिए चेन्‍नई के शख्‍स ने बना डाला रिमोट से चलने वाला टॉयलेट बेड, जीता नेशनल अवार्ड

चेन्नई के एक व्यक्ति एस. मुत्थू ने अपनी लाचार पत्नी के लिए रिमोट से चलने वाला बेड बनाया। मुत्थू को उसके इस प्रयास के लिए नेशनल इनोवेशन अवार्ड प्रदान किया गया।

मुत्थू को नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन की तरफ से राष्ट्रपति ने पुरस्कृत किया। (फोटोः एनआईएफ फेसबुक)

तमिलनाडु के एक शख्स ने बेड पर पड़ी अपनी लाचार पत्नी की परेशानी के देखते हुए रिमोट से चलने वाला टॉयलेट बेड बना दिया। चेन्नई के 42 वर्षीय एस. सर्वना मुत्थू को उसके इस नवाचार के लिए नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन की तरफ से पुरस्कृत किया गया।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 15 मार्च को गुजरात में मुत्थू को सम्मानित किया। मुत्थू वेल्डिंग का काम करता है। मुत्थू की पत्नी सर्जरी के बाद से चलने फिरने में असमर्थ थी। वह लगभग दो महीने से बेड पर ही पड़ी रहती थी। पत्नी की इस परेशानी ने मुत्थू को उसके लिए कुछ करने को प्रेरित किया।

अपनी पत्नी की परेशानी को खत्म करने के लिए उसने रिमोट से चलने वाला टॉयलेट बेड बनाने का निर्णय लिया। टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में मुत्थू ने कहा कि वह बेड पर पड़े मरीजों की परेशानी को समझ सकता है कि कैसे उन लोगों को अपनी सभी चीज के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है।

उसने बताया कि कई बार मरीज की देखभाल करने वाले भी परेशान हो जाते हैं। ऐसे मे रोगियों के आत्मसम्मान और स्वतंत्रता के लिए मुत्थू ने इस तरह का बेड डिजाइन करने का निर्णय लिया। मुत्थू ने जो बेड डिजाइन किया है उसमें एक फ्लश टैंक, क्लोसेट, सेप्टिक टैंक से लिंकेज और बीच से खुलने का सिस्टम है।

रिमोट कंट्रोल में तीन बटन हैं। एक बटन से बेड का बेस खुलता है जबकि दूसरे से क्लोसेट खोलता है। तीसरे बटन का प्रयोग टॉयलेट का फ्लश करने के लिए किया जाता है। ऐसा नहीं है कि मुत्थू के लिए इसकी राह आसान रही। उसे भी शुरुआत में दिक्कतों का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी ।

मुत्थू ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम से उनकी मौत से कुछ पहले मुलाकात की थी। मुत्थू ने कहा कि वह कलाम ही थे जिन्होंने उनका मार्गदर्शन किया और उन्हें नेशनल इनोवेशन फाउंडेश अवार्ड के लिए आवेदन करने को कहा। अन्य इनोवेशन की तरह मुत्थू का विचार ने आकार लिया। उसके प्रोजेक्ट को पूरा होने में एक साल का समय लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App