ताज़ा खबर
 

Chandrayaan 2 के IIRS ने कैद की चांद की सतह की पहली चमकीली तस्वीर, ISRO ने की जारी

First Illuminated Image of the Lunar Surface acquired by #Chandrayaan2’s IIRS Payload News & Details in Hindi: बता दें क‍ि छह स‍ितंबर को जब इसरो ने चंद्रयान 2 को लॉन्‍च क‍िया था, तभी व‍िक्रम का संपर्क इससे टूट गया था। चांद की सतह के काफी करीब पहुंच कर व‍िक्रम लापता हो गया।

Author नई दिल्ली | Updated: October 17, 2019 8:13 PM
Chandrayaan 2 के IIRS पेलोड ने यह चमकीली तस्वीर कैद की है, जिसे ISRO ने गुरुवार को रिलीज किया है।

First Illuminated Image of the Lunar Surface acquired by Chandrayaan2’s IIRS Payload News & Details in Hindi: चंद्रयान 2 के आईआईआरएस पेलोड से इसरो (ISRO), यानी भारतीय अंतर‍िक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Org) को चांद की सतह की पहली चमकीली तस्‍वीर म‍िली है। इसरो ने अपने ट्व‍िटर अकाउंट से यह तस्‍वीर जारी की है। आईआईआरएस को चांद की सतह से परावर्त‍ित होने वाले प्रकाश को मापने के मकसद से ड‍िजाइन क‍िया गया है।

उधर, नासा (NASA) ने इसरो के मून लैंडर व‍िक्रम को खोजने में मदद तेज कर दी है। सोमवार को नासा के एलआरओ ने उसे जगह की कई तस्‍वीरें लीं, जहां माना जाता है क‍ि व‍िक्रम ग‍िरा होगा। इससे पहले तस्‍वीर लेने की कोश‍िश प‍िछले महीने (17 स‍ितंबर को) भी की गई थी, लेक‍िन कम रोशनी के चलते अच्‍छी तस्‍वीरें नहीं ली जा सकी थीं। बुधवार को नासा के एलआरओ प्रोजेक्‍ट के वैज्ञान‍िक नोआ पेट्रो ने बताया क‍ि इस बार रोशनी काफी बेहतर थी।

उन्‍होंने बताया क‍ि हम पूरी श‍िद्दत से तलाश करेंगे और जल्‍द ही पता लगा लेंगे क‍ि व‍िक्रम के साथ क्‍या हुआ था। उन्‍होंने बताया क‍ि ताजा तस्‍वीरों का अध्‍ययन अभी कैमरा टीम द्वारा क‍िया जा रहा है। आने वाले कुछ द‍िनों में इस बारे में और जानकारी म‍िल सकती है।

ISRO,Chandrayaan 2,Lunar surface,Imaging Infrared Spectrometer,Illuminated Photo Of Lunar Surface,Vikram Lander,IIRS, nasa,chandrayaan-2,vikram,lro, Chandrayaan 2, ISRO News, NASA News, India News, National News, Hindi News Chandrayaan 2 के IIRS पेलोड ने चांद की सतह का यह फोटो कैद किया है, जिसे गुरुवार को ISRO ने टि्वटर पर साझा किया। तस्वीर में प्रमुख क्रेटर्स नजर आ रहे हैं, जिनमें समरफील्ड, स्टेबिन्स और किर्कवुड शामिल हैं। (फोटोः https://www.isro.gov.in)

उन्‍होंने बताया क‍ि हम ज‍िस जगह की तस्‍वीरें ले रहे हैं, वह काफी फैला हुआ है। हमें सटीक जानकारी नहीं है क‍ि क‍िस जगह व‍िक्रम के साथ हादसा हुआ होगा। ऐसे में हमें काफी बड़े दायरे की तस्‍वीरें लेनी पड़ रही हैं। इसल‍िए हमें कुछ वक्‍त चाह‍िए। अब 10 नवंबर को फ‍ि‍र से एलआरओ को और तस्‍वीरें लेने के ल‍िए भेजा जाएगा।

बता दें क‍ि छह स‍ितंबर को जब इसरो ने चंद्रयान 2 को लॉन्‍च क‍िया था, तभी व‍िक्रम का संपर्क इससे टूट गया था। चांद की सतह के काफी करीब पहुंच कर व‍िक्रम लापता हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मोदी के महात्वाकांक्षी लक्ष्य पर मनमोहन का वार- नहीं नजर आ रहे लक्षण, कैसे पहुंचेगी 5 ट्रिलियन वाली अर्थव्यवस्था?
2 राहुल गांधी ने अब PM को बताया ‘बेचेंद्र मोदी’, बोले- सूटबूट वाले मित्रों संग करते हैं PSU की बंदरबांट
3 VIDEO: आंसू बहा लोगों को बहलाना चाहते हैं आजम खान, पर उन पर औरतों के आंसुओं का श्राप- SP नेता पर बरसीं जया प्रदा