ताज़ा खबर
 

Chandrayaan-2 Moon Landing: जानिए इस मिशन के बारे में सबकुछ, शुरुआत से लेकर अबतक क्या-क्या हुआ

Chandrayaan-2 Moon Landing Date and Time, Live Streaming & Telecast Details: इसरो ने 22 जुलाई को चंद्रयान-2 का सफल प्रक्षेपण कर अपने खाते में नई उपलब्धि दर्ज की थी। यह आंध्रप्रदेश के नेल्लोर जिले के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च हुआ था।

Author नई दिल्ली | Updated: September 6, 2019 6:55 PM
भारत इतिहास रचने को तैयार। फोटो: ISRO

Chandrayaan-2 Moon Landing Date and Time, Live Streaming & Telecast: भारत के महत्वकांक्षी अंतरिक्ष प्रोजेक्ट चंद्रयान-2 के लिए शुक्रवार (6 सितंबर 2019) का दिन बेहद महत्वपूर्ण है। चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर चांद पर एतिहासिक लैंडिंग से कुछ किलोमीटर की दूरी पर है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा है कि अब किसी भी हाल में ये मिशन पूरा होना चाहिए। चांद की सतह पर लैंडिंग करने वाले देश सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन हैं। अगर विक्रम लैंडर सफलतापूर्वक चांद की सतह पर उतरता है तो भारत ऐसा करने वाला चौथा देश बन जाएगा। इससे पहले, 2008 में भी इसरो ने चंद्रयान 1 मिशन को कामयाब बनाया था। उस वकत चंद्रमा की परिक्रमा करने के लिए इस यान को भेजा गया था।

इसरो ने 22 जुलाई को चंद्रयान-2 का सफल प्रक्षेपण कर अपने खाते में नई उपलब्धि दर्ज की थी। यह आंध्रप्रदेश के नेल्लोर जिले के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च हुआ था। इस प्रोजेक्ट पर सरकार का खर्च करीब 978 करोड़ रुपये आया है। हालांकि जर्मनी जापान और फ्रांस सरकार भी ऐसा कर सकती है लेकिन उनका मानना है कि टैक्स भरने वाली जनता के पैसों को ऐसे मिशन पर खर्च नहीं करना चाहिए। चंद्रयान-2 ने अब तक अपने 48 दिनों का सफर तय कई बाधाओं को पार किया है।

Chandrayaan-2 Moon Landing Live Updates: ISRO के ‘महामिशन’ के बारे में यहां पाएं हर ताजा अपडेट

How & Where to watch Chandrayaan-2 Moon Landing Live

कामयाबी के साथ 24 जुलाई को धरती की पहली कक्षा में प्रवेश किया। इस दौरान चंद्रयान-2 ने समय-समय पर धरती और चांद की तस्वीरें भी इसरो को भेजी। इस दौरान इसरो ने इन तस्वीरों को जारी भी किया। 3 अगस्त को चंद्रयान-2 ने पृथ्वी की 5 तस्वीरें भी खींची। चंद्रयान 14 अगस्त को पृथ्वी की कक्षा से चांद की तरफ बढ़ने लगा था। इसके बाद धरती से चांद के करीब पहुंचने में उसे कुल 23 दिन लगे। 20 अगस्त को चंद्रयान-2 चांद की कक्षा में पहुंचा। 13 दिनों तक चांद की कक्षा में चक्कर लगाने के बाद 2 सितंबर को लैंडर ऑर्बिटर से अलग हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Kerala Nirmal Lottery NR-137 Results: 60 लाख रुपए तक इनाम घोषित, यहां चेक करें आपका लगा या नहीं?
2 New Traffic Rules: गडकरी ने जुर्माना बढ़ाने का किया बचाव, कहा- नये कानून को लेकर कुछ गलत धारणायें हैं
3 New traffic rules: कड़े जुर्माने का मकसद लोगों को कानून तोड़ने से रोकना है न कि धन राशि जुटाना