ताज़ा खबर
 

चंद्रधर शर्मा गुलेरी : हिंदी साहित्य का ध्रुवतारा

चंद्रधर शर्मा गुलेरी बहुमुखी रुचियों और प्रतिभा के व्यक्ति थे। उनका कार्यक्षेत्र खगोल विज्ञान, ज्योतिष, धर्म, भाषा विज्ञान, इतिहास, शोध, आलोचना आदि अनेक दिशाओं में फैला हुआ था।

Author Published on: July 1, 2020 5:09 AM
महान साहित्यकार, कथाकार चंद्रधर शर्मा गुलेरी।

चंद्रधर शर्मा गुलेरी अपनी कई खूबियों के कारण हिंंदी के अतिविशिष्ट कथाकार हैं। उनकी कहानी ‘उसने कहा था’ की गिनती हिंदी की महानतम कहानियों में की जाती है। यह कहानी अपनी लोकप्रियता की शताब्दी यात्रा पूरी कर चुकी है।

बात करें इस कहानी के रचयिता गुलेरी की तो वे बहुमुखी रुचियों और प्रतिभा के व्यक्ति थे। उनका कार्यक्षेत्र खगोल विज्ञान, ज्योतिष, धर्म, भाषा विज्ञान, इतिहास, शोध, आलोचना आदि अनेक दिशाओं में फैला हुआ था। जयपुर वेधशाला के यंत्रों पर लगे जीर्णोद्धार तथा शोधकार्य विषयक शिलालेखों पर चंद्रधर गुलेरी का नाम खुदा हुआ है।

वे कुछ समय तक काशी हिंदू विश्वविद्यालय के प्राच्य विभाग से भी जुड़े रहे। साहित्य की कई विधाओं में उनका समान दखल था। उन्हें हिंदी के अलावा संस्कृत, अंग्रेजी, प्राकृत, बांग्ला, मराठी, जर्मन तथा फ्रेंच भाषाओं का भी ज्ञान था। वे हिंदी साहित्य में श्रेष्ठ कथाकार, व्यंग्यकार, निबंधकार और संपादक के तौर पर समादृत रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 01 जुलाई का इतिहास: आज ही के दिन 2017 में मोदी सरकार ने देश में Goods And Services Tax लागू किया
2 टस से मस नहीं हो रहा चीन? अब गलवान में मैदानी सतह पर नक्शा बना मैंडरिन में लिखा- चाइना, 186 टेंट-शेल्टर भी जमाए- सैटेलाइट तस्वीरों में खुलासा
3 Pics: एक-दूजे के हुए तीरंदाज दीपिका कुमारी और अतुन दास, दो बैच में शादी में आए मेहमान; CM हेमंत सोरेन भी देने पहुंचे आशीर्वाद