ताज़ा खबर
 

केंद्र ने माना- नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु 1945 में विमान दुर्घटना के दौरान हुई

नेताजी की मौत से जुड़े विवाद के बीच सरकार ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 1945 में एक विमान दुर्घटना में निधन हो गया था।

Author नई दिल्ली/ कोलकाता | Updated: January 22, 2019 9:49 AM
Subhas Chandra Bose, netaji Subhas Chandra Bose, सुभाषचंद्र बोस, subhash chandra bose birthday,subhash chandra bose birth date, netaji birthday, netaji jayanti, netaji Subhas Chandra Bose jayanti, subhash chandra, subhash chandra latest update, trending news, subhash chandra bose hindiनेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अंग्रेजों से लोहा लेने के लिए आइएनए का गठन किया था। (सांकेतिक फोटो)

नेताजी की मौत से जुड़े विवाद के बीच सरकार ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 1945 में एक विमान दुर्घटना में निधन हो गया था। वहीं नेताजी के परपोते और भाजपा नेता चंद्र बोस ने नेताजी के निधन पर केंद्र सरकार के बयान को खारिज करते हुए उनके लापता होने के पीछे के सच का पता लगाने के लिए विशेष जांच दल गठित करने की मांग की है। उधर कांग्रेस ने राजग सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह फिर से इतिहास लिखने की कोशिश कर रही है।  कोलकाता के एक निवासी द्वारा सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में गृह मंत्रालय ने कहा कि नेताजी की मौत की जांच करने वाली विभिन्न समितियों की रिपोर्ट पर विचार करने के बाद सरकार इस नतीजे पर पहुंची है कि नेताजी की मौत विमान हादसे में हुई । बहुत से लोगों का मानना था कि नेताजी इस हादसे में बच गए थे। मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि शाहनवाज समिति, न्यायमूर्ति जीडी खोसला आयोग और न्यायमूर्ति मुखर्जी जांच आयोग की रिपोर्ट पर विचार के बाद सरकार इस नतीजे पर पहुंची कि विमान हादसे में उनकी मौत हो गई थी।

उसने उन खबरों को भी खारिज कर दिया कि 1897 में पैदा हुए बोस ‘गुमनामी बाबाc’ के भेष में रहे। मंत्रालय के जवाब में कहा गया, मुखर्जी आयोग इस नतीजे पर पहुंचा कि गुमनामी बाबा नेताजी सुभाष चंद्र बोस नहीं थे। गृह मंत्रालय की वेबसाइट एमएचए. एनआइसी.आइएन और मुखर्जी आयोग की रिपोर्ट की पृष्ठ संख्या 114-122 पर गुमनामी बाबा और भगवानजी के बारे में जानकारी उपलब्ध है। वहीं कोलकाता में चंद्र बोस ने कहा, मैं केंद्र सरकार से उस अधिकारी के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने की मांग करता हूं जिसने इतना गैर जिम्मेदाराना जवाब दिया। बिना किसी ठोस साक्ष्य के सरकार नेताजी की मौत के बारे में किसी नतीजे पर कैसे पहुंच सकती है? भाजपा की बंगाल इकाई के उपाध्यक्ष बोस ने कहा, केंद्र सरकार को ऐसे भ्रामक बयानों पर माफी मांगनी चाहिए और नेताजी सुभाष चंद्र बोस के गायब होने के रहस्य का सच सामने लाने के लिये विशेष जांच दल गठित करना चाहिए। उधर कांग्रेस ने भाजपा के नेतृत्व वाली राजग सरकार पर इतिहास को नए सिरे से लिखने के ठोस प्रयास करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उसने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के निधन से जुड़ा नया विवाद छेड़ दिया है और उसे माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस पार्टी ने ट्विटर पर कहा, भाजपा ने नेताजी के निधन से जुड़ा नया विवाद छेड़ दिया है। इसने सूचना के अधिकार के जरिए सरकार की सही स्थिति का खुलासा किया। कांग्रेस प्रवक्ता अजय कुमार ने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े नेताओं को बदनाम करने का ठोस प्रयास हो रहा है फिर चाहे वह जवाहर लाल नेहरू हों, सरदार पटेल या महात्मा गांधी। उन्होंने कहा, भाजपा द्वारा इतिहास को फिर से लिखने का सुनियोजित प्रयास किया जा रहा है। भाजपा और संघ के ‘डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट’ ने नेताजी की मौत के बारे में एक कहानी रची है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्री रामदास अठावले बोले- गोहत्या पर बैन लगाओ, मवेशियों पर पूरी तरह रोक लगाना सही नहीं
2 र‍िटायर होने से पहले जज ने कहा- गाय को राष्‍ट्रीय पशु घोषित करें, ऑर्डर में ग‍िनाए गोमूत्र के 11 फायदे
3 UPSC Civil Services 2016 Result: कर्नाटक की नंदिनी ने हासिल किया पहला स्थान, टॉप-3 में दो लड़कों ने मारी बाजी