Centre announces PM's Shram Awards for 2016 to 50 workers - Jansatta
ताज़ा खबर
 

इस साल तीन महिलाओं समेत 50 श्रमिकों को मिलेगा प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार

सरकार ने 2016 के लिये प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों की आज घोषणा की। यह पुरस्कार विभागीय उपक्रमों, लोक उपक्रमों तथा निजी क्षेत्र की इकाइयों के 50 श्रमिकों को दिया जाएगा।

Author नई दिल्ली | January 25, 2018 11:25 PM
पीएम नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो।

सरकार ने 2016 के लिये प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों की आज घोषणा की। यह पुरस्कार विभागीय उपक्रमों, लोक उपक्रमों तथा निजी क्षेत्र की इकाइयों के 50 श्रमिकों को दिया जाएगा। श्रम मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हालांकि इस साल कुल 32 श्रम पुरस्कार दिये जाएंगे लेकिन यह पुरस्कार पाने वाले कर्मचारियों की संख्या 50 हैं। इसमें तीन महिलाएं शामिल हैं।
बयान के अनुसार 34 सार्वजनिक क्षेत्र से तथा 16 निजी क्षेत्र के श्रमिकों को यह पुरस्कार मिला है। श्रम पुरस्कार चार श्रेणी…श्रम रत्न पुरस्कार, श्रम भूषण पुरस्कार, श्रम वीर: श्रम वीरांगना और श्रम श्री : श्रम देवी पुरस्कार… में दिये जाते हैं। इस साल प्रतिष्ठित श्रम रत्न पुरस्कार के लिये कोई नामांकन उपयुक्त नहीं पाये गये। सेल, भेल तथा टाटा स्टील के 12 श्रमिकों को श्रम भूषण से पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की गयी है। इसके तहत एक लाख रुपये नकद और सनद दिया जाता है।

नैवल डाकयार्ड, आर्डिनेंस फैक्टरी, राष्ट्रीय इस्पात निगम, टाटा स्टील, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, पारादीप फास्फेट लि., ब्रह्मोस एयरोस्पेस के 18 श्रमिकों को श्रम वीर : श्रम वीरांगना पुरस्कार दिये जाने की घोषणा की गयी है। इसके तहत 60,000 रुपये का नकद पुरस्कार और प्रमाणपत्र दिया जाता है। बयान के अनुसार सीमेंट कारपोरेशन आफ इंडिया, नैवल शिप रिपेयर यार्ड, टाटा मोटर्स, सुरत लिग्नाइट पावर प्लांट, लार्सन एंड टूब्रो लाइसफ आदि के 20 श्रमिकों को श्रम श्री : श्रम देवी पुरस्कार दिये जाने की घोषणा की गयी है। इसके तहत 40,000 रुपये तथा प्रमाण पत्र प्रदान किये जाते हैं। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय हर साल प्रधानमंत्री श्रम अवार्ड की घोषणा करता है। ये पुरस्कार श्रमिकों के बेहतर कार्य, अनूठी क्षमता, उत्पादकता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान आदि के लिये दिये जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App