ताज़ा खबर
 

केन्द्रीय मंत्री बोले- 2047 में धर्म के आधार पर फिर होगा देश का बंटवारा

मंत्री ​गिरिराज सिंह ने जिन 54 जिलों का जिक्र अपने बयान में किया है। उनमें से 5 जिले केरल के, 9 पश्चिम बंगाल के, 12 असम, 4 बिहार, 17 उत्तर प्रदेश और 2 झारखंड के हैं। गिरिराज सिंह ने यह भी दावा किया है कि इन जिलों में हिंदुओं की संख्या में भारी गिरावट आई है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने देश की बढ़ती आबादी पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अगर देश में यूं ही हिंदुओं की आबादी गिरती रही तो देश में सामाजिक समरसता बचेगी ही नहीं। अगर यही हालात रहे तो देश में एक और विभाजन की स्थि​ति पैदा हो जाएगी।

यूपी के अमरोहा में पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा,” 1947 में 33 करोड़ आबादी थी, आज घोषित 125 करोड़ है, अघोषित 136-141 करोड़ है। आज देश में 54 जिलों में हिंदुओं की आबादी गिर गई है। न सामाजिक समरसता बचेगी अगर जनसंख्या नियंत्रण कानून नहीं बना तो, न विकास होगा।”

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह यहीं नहीं रुके। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक उन्होंने यह भी कहा,” 1947 में धर्म के आधार पर ही देश का विभाजन हुआ वैसी ही परिस्थिति पुनः 2047 तक होगी। 72 साल में जनसंख्या 33cr से बढ़कर 135.7cr हो गया है। विभाजनकारी ताक़तों का जनसंख्या विस्फोट भयावह है। अभी तो 35A के बहस पर हंगामा हो रहा है। आने वाले वक़्त में तो एक भारत का ज़िक्र करना असंभव होगा।”

वैसे बता दें कि भारत सरकार में लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह लगातार अपने कथित तौर पर विवादित बयानों के कारण चर्चा में बने रहते हैं। मंत्री ​गिरिराज सिंह ने जिन 54 जिलों का जिक्र अपने बयान में किया है। उनमें से 5 जिले केरल के, 9 पश्चिम बंगाल के, 12 असम, 4 बिहार, 17 उत्तर प्रदेश और 2 झारखंड के हैं। अपने बयान में मंत्री गिरिराज सिंह ने यह भी दावा किया है कि इन जिलों में हिंदुओं की संख्या में भारी गिरावट आई है। केरल के मलप्पुरम जिले समेत इन जिलों में तो गैर मुस्लिमों के प्रवेश पर भी रोक ​लगा दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App