ताज़ा खबर
 

महीने भर तक नौकरी नहीं मिली तो निकाल सकेंगे पीएफ की 75 फीसदी रकम

कोई कर्मचारी अगर नौकरी छूटने के एक माह के भीतर दूसरी नौकरी नहीं पाता है तो उसे अपने कुल फंड का 75 फीसदी निकालने की अनुमति दी जा सकती है। गंगवार ने ये बात लोकसभा में कही।

Author Published on: July 23, 2018 6:07 PM
केन्द्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार। Express Photo By Amit Mehra

केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने सोमवार (23 जुलाई) को बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि कोई कर्मचारी अगर नौकरी छूटने के एक माह के भीतर दूसरी नौकरी नहीं पाता है तो उसे अपने कुल फंड का 75 फीसदी निकालने की अनुमति दी जा सकती है। गंगवार ने ये बात लोकसभा में कही।

संतोष गंगवार ने कहा कि कर्मचारी भविष्य निधि के ट्रस्टियों के केंद्रीय बोर्ड की 222वीं मीटिंग बीते 26 जून को आयोजित की गई ​थी। इसी मीटिंग में ईपीएफ स्कीम, 1952 के पैराग्राफ 68एचएच में प्रस्ताव देने का अनुमोदन किया गया। इससे लगातार एक महीने तक नौकरी में न रहने वाला ईपीएफ धारक अपने कुल जमा भविष्य निधि का 75 फीसदी हिस्सा निकाल सकेगा। ये बातें उन्होंने प्रश्नकाल के दौरान कहीं।

मंत्री ने कहा कि कर्मचारी भविष्य निधि योजना, 1952 में सदस्य को निधि में जमा संपूर्ण राशि निकालने की अनुमति उसी अवस्था में दी जाती है, जब वह लगातार दो महीने तक नौकरी में न रहे। ऐसे में वह प्रार्थनापत्र देकर अपनी संपूर्ण राशि निकालने के लिए आवेदन दे सकता है।

प्रार्थनापत्र देने के दिन से दो महीने के बाद निधि में मौजूद संपूर्ण धनराशि खाते में भेज दी जाती है। लेकिन दो महीने का यह वेटिंग अंतराल उस स्थिति में भी लागू नहीं होता है, जब कोई महिला सदस्य अपनी शादी करने के लिए नौकरी से इस्तीफा दे रही हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मोदी सरकार के मंत्री प्रोफेसर रहे सांसद से लेंगे ट्यूशन, सीखेंगे अंग्रेजी!
2 सरकारी तेल कंपनियों ने 365 दिन में कमाए 68 हजार करोड़, मोदी सरकार के पास नहीं है प्राइवेट का हिसाब
3 राफेल मुद्दा: पीएम मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्‍ताव लाएगी कांग्रेस
जस्‍ट नाउ
X