लोगों की जान खतरे में तो क्यों कड़ा फैसला नहीं लेते पीएम? प्रभु चावला ने पूछा सवाल तो हर्षवर्धन करने लगे पीएम मोदी की तारीफ

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दुनिया में जब कड़े फैसले लेने की जरुरत थी तो प्रधानमंत्री मोदी ही पहले नेता थे जिन्होंने 25 मार्च को देश में लॉकडाउन किया। लॉकडाउन उस समय की आवश्यकता थी।

harsh vardhan, corona, new delhiकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के विजन के कारण के ही आज देशभर में वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है। (एक्सप्रेस फोटो/ प्रेम नाथ पांडेय)

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और दिल्ली समेत ज्यादातर राज्यों ने अपने यहां तमाम पाबंदियां लगा दीं हैं। इसी मुद्दे पर चर्चा के दौरान जब टीवी एंकर प्रभु चावला ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से सवाल पूछते हुए कहा कि लोगों की जान खतरे में हैं तो पीएम मोदी कड़े फैसले क्यों नहीं लेते हैं। इसपर जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री टीवी शो में ही प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ़ करने लगे।

आजतक न्यूज चैनल पर प्रभु चावला के सीधी बात शो में एंकर के सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दुनिया में जब कड़े फैसले लेने की जरुरत थी तो प्रधानमंत्री मोदी ही पहले नेता थे जिन्होंने 25 मार्च को देश में लॉकडाउन किया। लॉकडाउन उस समय की आवश्यकता थी। लेकिन बाद में आर्थिक स्थिति में सुधार करना था और कोरोना को भी नियंत्रण में लाना था तो सारे नियम कायदों को ध्यान में रखकर नए तरीके की गाइडलाइन बनाई गई जिससे महामारी पर काफी हद तक नियंत्रण हुआ।

हालांकि जब एंकर प्रभु चावला ने कहा कि आपने कोरोना कर्फ्यू लगाकर तो छोटे धंधों को नुकसान पहुंचाया। लेकिन हवाई जहाज और फिल्म की शूटिंग जैसे बड़े व्यवसाय पर रोक नहीं लगाया। इसपर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि हवाई जहाज में कोरोना गाइडलाइन का पूरा ध्यान रखा जा रहा है. साथ ही हर्षवर्धन ने कहा कि हम लोगों से हमेशा कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का भी आग्रह कर रहे हैं ताकि कोरोना महामारी पर नियंत्रण किया जा सके।

 

इसके अलावा जब टीवी एंकर प्रभु चावला ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से पूछा कि क्या कोरोना महामारी के दौरान चुनावों पर रोक लगाया जा सकता था। तो इस सवाल का जवाब ना देकर स्वास्थ्य मंत्री ने टीकाकरण अभियान की चर्चा शुरू कर दी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आज से पहले कोई भी वैक्सीन इतनी तेजी से विकसित नहीं हुई जितनी तेजी से कोरोना की वैक्सीन सामने आई है। प्रधानमंत्री मोदी के विजन के कारण के ही आज देशभर में वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है। 

 

देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड 1,45,384 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,05,926 हो गई है। इतनी ही अवधि में कोरोना वायरस के कारण 794 और लोगों की मौत हो गई। इस संक्रमण से अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,68,436 हो गई है।

Next Stories
1 जब ऐंकर ने रामदेव से पूछा, खुद प्रचार करके मॉडल का भी पैसा बचा लिया? योगगुरु ने बताया खर्च
2 अर्नब से बोले प्रशांत किशोर, बंगाल में भाजपा बनी बड़ी ताकत, जीत-हार पर भी बोले
3 कोरोना से बचाने को MP की मंत्री ने कराई पूजा, बोलीं- गाय के गोबर से हवन करने से हो जाता है सैनिटाइजेशन
ये पढ़ा क्या?
X