ताज़ा खबर
 

रूसी युवती पर हमले में केंद्र ने उप्र से मांगी रिपोर्ट

वाराणसी में एक रूसी युवती पर तेजाब हमले की घटना पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उत्तर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट तलब की है। सुषमा ने एक ट्वीट में कहा..

रसियन टूरिस्ट का परिचय पत्र।

वाराणसी में एक रूसी युवती पर तेजाब हमले की घटना पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उत्तर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट तलब की है। सुषमा ने एक ट्वीट में कहा- मैंने वाराणसी में एक रूसी युवती पर तेजाब हमले की खबर जैसे ही सुनी, मैंने उत्तर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट मांगी। केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वाराणसी के नंद नगर इलाके में 13 नवंबर को एक स्थानीय युवक ने 23 साल की एक रूसी नागरिक पर तेजाब से हमला किया जिससे पीड़िता 46 फीसद झुलस गई।

वाराणसी में शुरुआती इलाज के बाद पीड़िता को दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी हालत स्थिर है। उसके पास रूस और बुल्गारिया की दोहरी नागरिकता है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा था कि वाराणसी स्थित अपने किराए के घर में रहने के दौरान पीड़िता मकान मालिक के बेटे सिद्धार्थ श्रीवास्तव के करीब आई। सिद्धार्थ बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में संगीत का छात्र है।

वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) आकाश कुलहरि ने बताया था-सिद्धार्थ युवती के रूस लौटने के फैसले से नाखुश था। इस मुद्दे पर दोनों का झगड़ा भी हुआ था, जिसके बाद सिद्धार्थ ने उस पर तेजाब फेंक दिया। सिद्धार्थ की मां ने पीड़िता की चीखें सुनी और उसे अस्पताल लेकर गई। कुलहरि ने बताया कि अपराध को अंजाम देने के बाद भाग कर इलाहाबाद जा चुके सिद्धार्थ को अगले ही दिन उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया, जब वह पीड़िता को देखने के लिए अस्पताल आया था।

अपनी हरकत से शर्मिंदा सिद्धार्थ ने पुलिस की ओर से बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में कहा- मुझे अपनी हरकत पर शर्म आ रही है। मुझे नहीं पता कि अब मैं अपनी जिंदगी में कभी उससे मिल भी पाऊंगा कि नहीं। पीड़िता को शनिवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वाराणसी के जिलाधिकारी राजमणि यादव के मुताबिक पीड़िता की हालत स्थिर बताई जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पीड़िता के इलाज के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख रुपए देने का फैसला किया है।

* पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसकी हालत स्थिर है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने युवती के इलाज के लिए राहत कोष से पांच लाख रुपए देने का फैसला किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंगाल में अपना खोया बल वापस पाने में जुटी माकपा
2 अब और ढीली होगी जेब, ट्रेनों का एसी किराया बढ़ा
3 भारत में बेहतर अवसरों का समय: प्रणब मुखर्जी
IPL 2020 LIVE
X