ताज़ा खबर
 

पेट्रोल कुछ पैसा सस्‍ता तो गैस कर दी महंगी, दोनों तरह के स‍िलेंडर के दाम बढ़े

केन्द्र सरकार ने अब गैस सिलिंडर के दामों में बढ़ोत्तरी का फरमान जारी किया है। ये बढ़ोत्तरी सब्सिडी वाले सिलिंडर के अलावा गैर सब्सिडी वाले सिलिंडर पर भी लागू होगी। सरकार के इस ताजा फैसले से देश में महंगाई और बढ़ने की उम्मीद है।

साइकिल पर घरेलू रसोई गैस सिलेंडर लेकर जाता एक वेंडर। (फाइल फोटो)

महंगाई से जूझ रहे आम आदमी को केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने एक और झटका दिया है। केन्द्र सरकार ने अब गैस सिलिंडर के दामों में बढ़ोत्तरी का फरमान जारी किया है। ये बढ़ोत्तरी सब्सिडी वाले सिलिंडर के अलावा गैर सब्सिडी वाले सिलिंडर पर भी लागू होगी। सरकार के इस ताजा फैसले से देश में महंगाई और बढ़ने की उम्मीद है। इस कदम का सीधा असर रसोई पर दिखेगा। केन्द्र सरकार के पेट्रोलियम विभाग ने सब्सिडी वाले सिलिंडर की कीमत में 2.34 रुपये का इजाफा किया है। जबकि बिना सब्सिडी वाले सिलिंडर की कीमत में 48 रुपये का इजाफा किया गया है। सब्सिडी वाला सिलिंडर अब 493.55 रुपये का मिलेगा। जबकि बिना सब्सिडी वाला सिलिंडर 698.50 रुपये का मिलेगा। ये बढ़ोत्तरी ऐसे वक्त में की गई है जब तेल की बढ़ती कीमतों के कारण केन्द्र सरकार विपक्षियों के निशाने पर है। हाल ही में सरकार ने तेल की कीमतों में एक पैसे की कटौती की थी। इस कटौती के कारण सरकार को विपक्ष ने जमकर खरीखोटी सुनाई थी।

वहीं इसी बीच केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने बुधवार (30 मई) को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक रुपये की कटौती करने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद केन्द्र सरकार पर विपक्षी दलों के हमले तेज हो गए थे। केन्द्र सरकार पहले ही अपनी सफाई में कह चुकी है कि तेल की कीमतें वैश्विक बाजार के उतार-चढ़ाव पर आधारित हैं। इन पर अधिक सब्सिडी देकर सरकार अर्थव्यवस्था को नुकसान नहीं पहुंचा सकती है। अगर तेल कीमतों पर सब्सिडी दी गई तो इसका विपरीत असर राज्य की जनता के कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं पर पड़ेगा। हालांकि तेल कीमतों की महंगाई से निपटने के लिए सरकार इसके दीर्घकालीन समाधान के बारे में विचार कर रही है।

बता दें कि बीते कुछ दिनों मेंं ही देश भर में तेल कीमतों में बड़ा उछाल आया है। पेट्रोल के भाव 3.8 रुपये प्र​ति लीटर जबकि डीजल के भाव में 3.38 रुपये तक की बढ़ोत्तरी हो चुकी है। सरकार ने देश में तेल कीमतों को स्थिर रखने के लिए कदम उठाने भी शुरू कर दिए हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों को सिंगापुर के गैसोलीन प्राइस जीएल95-एसआईएन और अरब गल्फ प्राइज गो एजी से जोड़ दिया है। इससे भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था से तालमेल बढ़ाने में मदद मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App