ताज़ा खबर
 

सेलेब्रिटीज ने लिंचिंग मामलों पर पीएम मोदी को लिखा पत्र, मुख्तार अब्बास नकवी बोले- यह ‘अवॉर्ड वापसी 2’

सेलेब्स की ओर से यह पत्र 23 जुलाई को भेजा गया था। इसमें लिखा था कि मतभेद के बिना कोई लोकतंत्र नहीं होता। इन लोगों को विरोध जताने पर देशविरोधी या अर्बन नक्सल करार नहीं देना चाहिए।

Author नई दिल्ली | July 25, 2019 10:08 AM
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

देश में मॉब लिंचिंग व दलितों और अल्पसंख्यकों की सुरक्षा को लेकर सेलेब्रिटीज ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है। अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इसे गैरजरूरी करार दिया। उन्होंने कहा, ‘‘2014 के बाद भी हमने ऐसी ही चीजें देखी थीं। उसे अवॉर्ड वापसी नाम दिया गया था। यह उसका दूसरा हिस्सा है।’’

नकवी ने यह बात हिंसक घटनाओं पर सरकार की चुप्पी को लेकर लेखकों की ओर से जताए गए विरोध पर कही। न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, नकवी ने कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव में हार के बाद आपराधिक घटनाओं को सांप्रदायिकता का रंग देने की कोशिश की जा रही है।’’

National Hindi News 25 July 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला खत लिखा गया था। इस पर फिल्म निर्माता श्याम बेनेगल, अनुराग कश्यप, मणिरत्नम, अदूर गोपालकृष्णन, अपर्णा सेन, केतन मेहता, सिंगर शुभा मुद्गल, अभिनेत्री सौमित्रा चटर्जी, कोंकणा सेन शर्मा, इतिहासकार सुमित सरकार, तनिका सरकार, पार्था चटर्जी और रामचंद्र गुहा के अलावा लेखक अमित चौधरी ने हस्ताक्षर किए थे। उन्होंने मुस्लिमों, दलितों और अन्य समुदायों के लोगों को पीट-पीटकर मार डालने की घटनाओं को तुरंत रोकने की मांग की थी। साथ ही, कहा था कि जय श्रीराम अब युद्धघोष बन चुका है।

सेलेब्स की ओर से यह पत्र 23 जुलाई को भेजा गया था। इसमें लिखा था कि मतभेद के बिना कोई लोकतंत्र नहीं होता। इन लोगों को विरोध जताने पर देशविरोधी या अर्बन नक्सल करार नहीं देना चाहिए। पीटीआई से फोन पर बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री नकवी ने कहा, ‘‘आपराधिक घटनाओं को सांप्रदायिक रंग नहीं देना चाहिए। दलित और अल्पसंख्यक इस देश में सुरक्षित हैं। 2019 लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार को इस तरह रिकवर करने की कोशिश की जा रही है।’’

Next Stories
1 नितिन संदेसारा के Sterling Group, जिसे डिफॉल्टर करार दिया गया था, उसे SBI ने दे दिया 1300 करोड़ का लोन
2 महाराष्ट्र कांग्रेस ने राक्षस ‘बकासुर’ से की BJP की तुलना, कहा- सत्ता की भूखी है भगवा पार्टी
3 Karnataka: स्पीकर ने तीन विधायकों को दिया अयोग्य करार, 2023 तक चुनाव लड़ने पर लगाया बैन
यह पढ़ा क्या?
X