अडानी पोर्ट्स को सीसीआई की मंजूरी, गंगावरम पोर्ट का 10.4 हिस्सा अधिग्रहित कर सकेगी कंपनी

कंपनी को अगस्त में आंध्र प्रदेश सरकार से इसके लिए मंजूरी मिली थी। जीपीएल की 10.4% इक्विटी हिस्सेदारी के प्रस्तावित अधिग्रहण की लागत ₹644.78 करोड़ है।

adani, adani group
अडानी पोर्ट्स द्वारा गंगावरम पोर्ट की 10.4 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी गयी है। (ANI)

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने सोमवार को कहा कि अडानी पोर्ट्स द्वारा गंगावरम पोर्ट (जीपीएल) की 10.4 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गयी है। सीसीआई ने ट्विटर पर बताया, “आयोग ने अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड द्वारा गंगावरम पोर्ट की 10.40% इक्विटी शेयरधारिता के प्रस्तावित अधिग्रहण को मंजूरी दी।”

बता दें कि कंपनी को अगस्त में आंध्र प्रदेश सरकार से इसके लिए मंजूरी मिली थी। जीपीएल की 10.4% इक्विटी हिस्सेदारी के प्रस्तावित अधिग्रहण की लागत ₹644.78 करोड़ है। गंगावरम पोर्ट, सितंबर 2001 में निगमित, विभिन्न प्रकार के ड्राई बल्क और ब्रेक बल्क कार्गो को संभालने के व्यवसाय में लगा हुआ है।

यह एक बहु-कार्गो सुविधा है और वित्त वर्ष 2021 में इसने 32.31 एमएमटी कार्गो को संभाला। इसकी क्षमता 64 एमएमटी है। इसने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए ₹1,057 करोड़ राजस्व की कमाई की थी। यह आंध्र प्रदेश में दूसरा सबसे बड़ा गैर-प्रमुख बंदरगाह है। आंध्र प्रदेश सरकार की ओर से इसे रियायत मिली हुई है जो 2059 तक मान्य है।

बता दें कि अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (एसईजेड) लिमिटेड, गौतम अडानी के नेतृत्व वाले समूह अडानी समूह का हिस्सा है, जो भारत में एक प्रमुख एकीकृत बंदरगाह और रसद कंपनी है। APSEZ छह समुद्री राज्यों – गुजरात, गोवा, केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और ओडिशा में 11 घरेलू बंदरगाहों पर मौजूद है।

वहीं, टाटा पावर ने सोमवार को कहा कि उसकी इकाई टीपी सौर्या को महाराष्ट्र स्टेट पावर जनरेशन कंपनी लि. (महाजेनको) से राज्य में 250 मेगवाट क्षमता का सौर संयंत्र लगाने को लेकर आशय पत्र मिला है।

टाटा पावर ने एक बयान में कहा कि उसकी पूर्ण अनुषंगी इकाई टीपी सौर्या लि. (टीपीएसएल) को महाजेनको से ग्रिड से जुड़ी 250 मेगावाट क्षमता के सौर फोटोवोल्टिक संयंत्र लगाने को लेकर आशय पत्र मिला है।

शुल्क आधारित प्रतिस्पर्धी बोली के जरिये टीपीएसएल को यह परियोजना मिली है। आशय पत्र के अनुसार कंपनी महाराष्ट्र में धुले जिले के डोंडाइचा सोलर पार्क में 250 मेगावाट क्षमता का सौर संयंत्र लगाएगी। इसके लिये महाजेनको ने बोली आमंत्रित की थी।

महाराष्ट्र राज्य बिजली वितरण कंपनी लि. (एमएसईडीसीएल) ने इस सौर संयंत्र से बिजली खरीदने को लेकर सहमति जतायी है। बिजली खरीद समझौते की तारीख से 15 महीने के भीतर परियोजना चालू की जाएगी।

इसके साथ टाटा पावर की स्थापित क्षमता 4,611 मेगावाट पहुंच गयी है। इसमें स्थापित क्षमता 2,947 मेगावाट जबकि 1,664 मेगावाट क्षमता की परियोजनाएं निर्माणधीन हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट